इस मामले में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी व उनके सात गुर्गों पर गैंगेस्टर एक्ट के तहत की गई कार्रवाई

छह वर्ष पूर्व ठेकेदारी के वर्चस्व को लेकर अत्याधुनिक असलहों से की गयी मजदूर की हत्या के मामले में बुधवार को पुलिस ने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी व उनके सात गुर्गों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की है

आजमगढ़, 07 अक्टूबर यूपी किरण। छह वर्ष पूर्व ठेकेदारी के वर्चस्व को लेकर अत्याधुनिक असलहों से की गयी मजदूर की हत्या के मामले में बुधवार को पुलिस ने बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी व उनके सात गुर्गों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की है। 
शासन के निर्देश के बाद पुलिस बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पर लगातार शिकंजा कस रही है। मुख्तार के गुर्गों की संपत्ति जब्त करने, उनके शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर रही है। वर्ष 2014 में फरवरी माह में तरवां थाना क्षेत्र के ऐरा कला पोखरा के पास निर्माण कार्य चल रहा था। उस समय मुख्तार गैंग ने दहशत फैलाने व ठेकेदारी में अपना वर्चश्व कायम करने के लिए अत्याधुनिक हथियारों से अंधाधुंध फायरिंग की थी।
 
इस फायरिंग में बिहार प्रांत के गया का रहने वाला मजदूर राम इकबाल की मौत हो गयी थी। उस समय इस मामले में छह से अधिक लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।  पुलिस ने जब इस मामले की विवेचना की तो पता चला पूरा खेल मुख्तार अंसारी गैंग का था और मुकदमा दर्ज कराने वाला वादी भी इस हत्याकांड में शामिल था।
 
इस मामले में पुलिस ने मुख्तार अंसारी व उनके सात गुर्गों के खिलाफ एफआईआर तरमीम कर कार्रवाई की थी। उसी मामले में अब पलिस ने विधायक मुख्तार अंसारी व उनके सात  गुर्गों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट की कार्रवाई की है।
पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि आज से करीब छह साल पूर्व हुई एक मजदूर की हत्या में मुख्तार अंसारी और उनके गुर्गों के खिलाफ गैंगेस्टर एक्ट के तहत तरवां थाने में मुकदमा दर्ज हुआ है। इसमें जिसमें कुछ अपराधी आजमगढ़ जिले के रहने वाले है और कुछ मऊ जनपद के निवासी है। ये सभी कुख्यात अपराधी है। इनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। इसके साथ ही इनकी सम्पत्ति को भी जब्त किया जायेगा। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *