इस राज्य में कोरोना रिकवरी दर 89% के पार, 60 वर्ष से अधिक उम्र के 45% संक्रमितों की हुई मौत

प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 40,210 हो गई है। बीते चौबीस घंटे में संक्रमण के 1,077 मामलों में कमी दर्ज की गई है

लखनऊ, 10 अक्टूबर यूपी किरण। प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या अब घटकर 40,210 हो गई है। बीते चौबीस घंटे में संक्रमण के 1,077 मामलों में कमी दर्ज की गई है। इसके साथ ही राज्य में अब तक कुल 3,87,149 मरीज इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ हो चुके हैं। मरीजों के तेजी से ठीक होने की वजह से रिकवरी दर अब 89.26 प्रतिशत हो गई है।
मृतकों में 71 प्रतिशत पुरुष व 29 फीसदी महिलाएं
अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने शनिवार को बताया कि राज्य में संक्रमित लोगों में से अब तक कुल 6,353 लोगों की मृत्यु हुई है। बीते चौबीस घंटे में 60 मरीजों की मौत हुई है। इन मौतों के विश्लेषण में सामने आया है कि इनमें 71 प्रतिशत पुरुष और 29 प्रतिशत महिलाएं थीं। मृतकों में 63 प्रतिशत मरीज शहरी और 37 प्रतिशत ग्रामीण इलाकों से ताल्लुक रखते थे। पहले से किसी गम्भीर बीमारी से ग्रसित 74 प्रतिशत मरीजों की संक्रमण के बाद मौत हुई।
बुजुर्गों में संक्रमण कम लेकिन मौतों का प्रतिशत कहीं ज्यादा 
उन्होंने बताया कि कुल संक्रमण के मामलों में 60 वर्ष से अधिक आयु वाले लोग 9.4 प्रतिशत रहे, जबकि मौतों के मामलों में इनका 45 प्रतिशत रहा। इस तरह बुजुर्गों में संक्रमण भले ही अब तक कम सामने आया हो लेकिन इसके मुकाबले उनकी मौतों का प्रतिशत काफी अधिक है। इसलिए उनकी सेहत को लेकर बेहद सतर्कता बरतने की जरूरत है।इसी तरह 51 से 60 वर्ष की आयु वाले 13 प्रतिशत लोग संक्रमित हुए और इनकी मौतों का प्रतिशत 25.3 है। इसके मद्देनजर 50 से अधिक आयु वाले सभी लोगों को बहुत ज्यादा सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।
अब तक कुल 1.17 करोड़ कोरोना नमूनों की हुई जांच
अपर मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि बीते चौबीस घंटे में राज्य ने अभी तक की सर्वाधिक 1,76,514 कोरोना नमूनों की जांच एक दिन में करने का रिकार्ड बनाया है। अब तक कुल 1,17,26,075 नमूनों की जांच हो चुकी है।
18,654 मरीजों का होम आइसोलेशन में चल रहा इलाज
उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान में कुल सक्रिय मरीजों में से 18,654 लोग होम आइसोलेशन यानी घर पर रहकर इलाज की सुविधा का लाभ ले रहे हैं। इसके अलावा 3,106 लोग निजी अस्पतालों व शेष राज्य सरकार की एल-1, एल-2 व एल-3 की व्यवस्था के तहत सरकारी अस्पतालों में भर्ती हैं।
13.18 करोड़ लोगों के बीच पहुंची स्वास्थ्य टीमें
स्वास्थ्य विभाग की टीमें लगातार विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के बीच पहुंचकर सर्वेश्रण कर रही हैं। अभी तक 1,36,383 इलाकों में 4,11,492 टीमों ने 2,66,90,251 करोड़ घरों का सर्वेक्षण किया है। इसके तहत 13,18,96,290 करोड़ से अधिक लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग की गई है।
ई-संजीवनी के जरिए 1.30 लाख लोगों ने लिया परामर्श
इसके साथ ही ई-संजीवनी पोर्टल का प्रदेश के लोग लगातार इस्तेमाल कर रहे हैं। इस पोर्टल से घर बैठे डॉक्टरों से सलाह ले सकते हैं। शुक्रवार को 2,729 लोगों ने इस सुविधा का लाभ उठाया। अब तक कुल 1,30,286 लोग इस पोर्टल के जरिए चिकित्सीय लाभ ले चुके हैं।
6,433 बच्चों ने एक दिन में सरकारी अस्पतालों में लिया जन्म
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के सरकारी अस्पतालों में प्रसव की सुविधाएं पहले की तरह मुहैया करायी जा रही हैं। 08 अक्टूबर को प्रदेश में 6,433 शिशुओं ने सरकारी अस्पतालों में जन्म लिया। इनमें 6,197 नॉर्मल डिलीवरी और 236 सिजेरियन प्रसव हुए।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *