कल के मैच में अम्पायर ने कराई बेमाई, वीरेंद्र सहवाग हुए गुस्सा, Kings xi punjab जीत जाती अगर ऐसा ना होता

दोनों टीमों ने निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट पर 157 रन बनाए।

नई दिल्ली॥ IPL 2020 के 13वें एडिशन का दूसरा मैच काफी रोमांचक रहा। दिल्ली कैपिटल्स (DC) और किंग्स इलेवन Kings xi punjab (KXIP) के बीच खेला गया मैच टाई रहा। दोनों टीमों ने निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट पर 157 रन बनाए। इसके बाद मैच का फैसला सुपर ओवर में हुआ, जिसमें दिल्ली की टीम ने बाजी मारी।

Sehwag

हालांकि यदि अम्पयार नितिन मेनन ने गलती नहीं की होती तो ये मैच सुपर ओवर तक नहीं गया होता और Kings xi punjab को जीत मिली होती। दरअसल नितिन मेनन ने Kings xi punjab के एक रन को शॉर्ट रन करार दिया, मगर रिप्ले में पता चला कि ये रन शॉर्ट नहीं था। अम्पयार के इस फैसले पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग भड़क गए और कहा कि अम्पयार को मैन ऑफ द मैच देना चाहिए।

अम्पायर से क्या चूक हुई

Kings xi punjab को जीत के लिए 157 रनों का लक्ष्य मिला था। आखिरी 10 गेंदों में उसे जीत के लिए 21 रनों की दरकार थी। मंयक अग्रवाल काफी अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे और Kings xi punjab को जीत की तरफ ले जा रहे थे। दूसरे छोर पर इंग्लैंड के क्रिस जॉर्डन थे। 19 ओवर में दिल्ली की ओर से गेंदबाजी करने कैगिसो रबाडा आए। मंयक ने उनकी दूसरी गेंद पर शानदार चौका जड़ा। अगली गेंद को उन्होंने दो रन पूरे किए।

इसे अम्पयार नितिन मेनन ने शॉर्ट रन करार दिया। बता दें कि फैंस का कहना है कि अंपायर ने बेमाई कराई है, मगर वास्तव में ऐसा नहीं है। नितिन के अनुसार जॉर्डन ने अपना पहला रन पूरा करते समय बल्ले को क्रीज के अंदर नहीं रखा। इस वजह से Kings xi punjab को केवल एक रन मिला, लेकिन टीवी रिप्ले में साफ-साफ पता चल रहा था कि जॉर्डन ने क्रीज के अंदर बल्ला रखा था। इसका नतीजा ये हुआ कि मैच टाई हो गया और सुपर ओवर में Kings xi punjab को हार का सामना करना पड़ा।

अम्पयार पर सहवाग बिफरे, चोपड़ा ने भी प्रश्न उठाए

अम्पायर नितिन मेनन के फैसले पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग और उनके ओपनिंग पार्टनर आकाश चोपड़ा भड़क गए। सहवाग ने ट्वीट करके कहा कि मैं मैन ऑफ द मैच की चॉइस से सहमत नहीं हूं। जिस अम्पायर ने यह शॉर्ट रन दिया वह मैन ऑफ द मैच होना चाहिए था। ये शॉर्ट रन नहीं था और इसी ने अंतर पैदा किया।

चोपड़ा और दिल्ली डेयरडेविल्स के पूर्व कोच ट्रेंट वुडहिल ने भी अम्पायरिंग की आलोचना की और सवाल किया कि तकनीक का इस्तेमाल क्यों नहीं किया गया? चोपड़ा ने ट्वीट करके कहा कि यह शॉर्ट रन नहीं था। ऐसे मामलों में टेक्नॉलजी का इस्तेमाल होना चाहिए, मगर ये तभी संभव है जब थर्ड अम्पयार इसे सही वक्त पर पकड़ ले।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *