LAC पर गोलीबारी के बाद भारत-चीन में बढ़ा तनाव, सेनाएं अलर्ट पर

पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे पर चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की थी। भारतीय सैनिकों ने चेतावनी दी लेकिन रुकने के बजाय उन्होंने फायरिंग कर दी

नई दिल्ली, 08 सितम्बर। पिछले एक हफ्ते से पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के बीच बढ़ा रहा तनाव सोमवार देर रात गोलीबारी में बदल गया। पैंगोंग झील के दक्षिण किनारे पर चीनी सैनिकों ने घुसपैठ की कोशिश की थी। भारतीय सैनिकों ने चेतावनी दी लेकिन रुकने के बजाय उन्होंने फायरिंग कर दी। इस पर भारतीय सैनिकों ने भी जवाबी फायरिंग की।

india china firing

चीनी सैनिकों की ओर से फिर घुसपैठ की कोशिश के चलते करीब चार दशक बाद पहली बार दोनों तरफ से फायरिं​​ग की गई है। घटना के बाद हालात नियंत्रण में है। भारत की ओर से आधिकारिक तौर पर घटना को लेकर कोई बयान नहीं दिया गया है। उधमपुर के वायु सेना स्टेशन के एयर बेस से देर रात लड़ाकू विमानों ने उड़ान भरी और लद्दाख सीमा पर हवाई हलचल तेज हो गई है।

भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच गोलीबारी की घटना हुई

भारतीय सेना के सूत्रों ने ‘वार्निंग शॉट्स’ फायर किए जाने की पुष्टि की है। सीमा पर तैनात सैनिक तब से हाई अलर्ट पर हैं, जब से उन्होंने काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लिया है और चीनी सैनिक इन दोनों चोटियों पर नियंत्रण हासिल करने के लिए आगे बढ़ रहे थे, जिन्हें रोकने के लिए पहले चेतावनी दी गई और न रुकने पर भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच गोलीबारी की घटना हुई है।

हालांकि सूत्रों ने दावा किया कि स्थिति नियंत्रण में है। उधर, चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के वेस्टर्न थियेटर कमान के प्रवक्ता कर्नल झांग शुइली की ओर से देर रात दिए गए बयान में कहा गया कि भारतीय सैनिकों की ओर से कथित ‘उकसावे’ की कार्रवाई की गई जिससे चीनी सैनिकों की ओर से जवाबी कार्रवाई की गई। पीएलए प्रवक्ता ने यह भी कहा कि भारतीय सेना ने अवैध रूप से पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे के पास शेनपाओ पहाड़ में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास को पार किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *