भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर किया बड़ा हमला, लगा लाशों का ढेर, मारे गए इतने सैनिक-आतंकी

घुसपैठ के लिए तैयार बैठे बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने और कई लांचिंग पैड्स तबाह होने की खबर है। शत्रु हताहतों की संख्या तीन अंकों तक जा सकती है।

​नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर की नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तान की फायरिंग का शुक्रवार को भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया है। भारत ने पाकिस्तानी सेना के ठिकानों और पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के लेपा वैली और नीलम वैली में आतंकियों के लांचिंग पैड्स को निशाना बनाया है। घुसपैठ के लिए तैयार बैठे बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने और कई लांचिंग पैड्स तबाह होने की खबर है। शत्रु हताहतों की संख्या तीन अंकों तक जा सकती है। भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के दो बंकर और तीन चौकियां तबाह हुई हैं और करीब 10 सैनिक मारे गए हैं। मारे गए पाकिस्तानी सेना के सैनिकों में 2-3 पाकिस्तानी सेना विशेष सेवा समूह (एसएसजी) के कमांडो भी शामिल हैं।
Indian Army
दरअसल आज सुबह उड़ी सेक्टर के सामने एलओसी पार हाजीपीर दर्रे पर बैठे पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय ठिकानों पर तोप और मोर्टार के गोले दागे। उड़ी में गोलाबारी शुरू होने के लगभग 20 मिनट बाद बांदीपोरा जिले में एलओसी के साथ सटे गुरेज सेक्टर में भी पाकिस्तान में गोलाबारी शुरू कर दी। इस बीच जिला कुपवाड़ा में भी एलओसी से सटे अग्रिम इलाकों में पाक सैनिकों ने सीज फायर का उल्लंघन करते हुए अचानक से भारतीय चौकियों के साथ रिहायशी इलाकों को निशाना बनाकर गोलाबारी की। कुपवाड़ा के केरन सेक्टर में एलओसी के पार से आज सुबह बड़ी संख्या में सशस्त्र पाकिस्तानी आतंकवादियों ने घुसपैठ करने की कोशिश की। इन्हीं आतंकियों को कवर फायर देने के लिए सीमा पार से संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए भीषण गोलाबारी की गई।
पाकिस्तान ने नागरिक आबादी को निशाना बनाकर मोर्टार शैल दागे और बड़े हथियारों से जबरदस्त फायरिंग की। उड़ी से लेकर गुरेज सेक्टर तक दोनों ओर से ​गोलाबारी के कारण सीमावर्ती इलाकों के लोग दहशत में हैं। ​गोलाबारी से बचने के लिए कई लोग सुरक्षित जगहों पर चले गए। दोनों ओर से कई सेक्टरों में गहन ​​गोलाबारी के कारण सीमावर्ती इलाकों में लोग दहशत में हैं। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर के तंगधार में भी पाकिस्तान की ओर से जबरदस्त गोलीबारी की खबर सामने आ रही है। यहां लोग बंकर में छिपने के लिए मजबूर हो रहे हैं और तंगधार से लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया जा रहा है। इसी तरह बांदीपोरा जिले में एलओसी के साथ सटे गुरेज सेक्टर में लोग जान बचाने के लिए बंकरों की ओर भागे हैं। गोलीबारी की रेंज बढ़कर तंगधार के मुख्य बाजार तक पहुंच सकती है, इसलिए यहां के भी बाजार बंद करा दिए गए हैं।
एलओसी पर तैनात सभी फील्ड कमांडरों को भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को मुंहतोड़ जवाब देने के आदेश दिए। भारतीय जवानों ने भी इस गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब देते हुए पाकिस्तानी ठिकानों को निशाना बनाया। भारतीय सेना ने जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों की घुसपैठ को नाकाम करते हुए एलओसी से पीछे खदेड़ दिया। भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई में जम्मू-कश्मीर की नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) के लेपा वैली और नीलम वैली के लांचिंग पैड्स को निशाना बनाया है। यहां घुसपैठ को तैयार बैठे बड़ी संख्या में आतंकियों के मारे जाने और कई लांचिंग पैड्स तबाह हुए हैं। एलओसी के सक्रिय क्षेत्रों के साथ पीओके में बाजार बंद कर दिए गए हैं। जान बचाने के लिए नागरिकों ने बंकरों में शरण ली है जिससे लोगों में भगदड़ मचने जैसे हालात हैं।
भारतीय सेना ने एक आधिकारिक बयान में कहा है कि जम्मू-कश्मीर के ​केरन सेक्टर में आज एलओसी पर आगे की चौकियों पर  संदिग्ध हलचल देखी गई लेकिन सैनिकों ने इस घुसपैठ को नाकाम कर दिया। पाकिस्तान ने मोर्टार और अन्य हथियारों से गोलीबारी करके केरन सेक्टर में अकारण संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जिसका भारतीय सेना​​ ने करारा जवाब दिया है और अभी भी गोलीबारी चल रही है। ​रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल देवेंद्र आनंद ने कहा कि ​पाकिस्तान की ओर से ​​​गुरुवार को भी नियंत्रण रेखा के पास तीन सेक्टर शाहपुर, किरनी और कस्बा में सुबह 9 बजे के करीब छोटे हथियारों से गोलाबारी कर संघर्ष विराम उल्लंघन किया। इसके बाद भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की। इस साल की शुरुआत से अब तक पाकिस्तान ने 3,200 से ज्यादा बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है, जिसमें 24 नागरिक मारे गए और 100 से अधिक घायल हुए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *