भारतीय रेल 1 जून से चलाने जा रहा है 200 नॉन-एसी ट्रेनें, जानें इनके बारे में सबकुछ

कोरोना महामारी के बीच देश में लॉकडाउन किया गया है. आपको बता दें कि ऐसे में लॉकडाउन को खोलने की दिशा में रेल मंत्रालय ने अहम कदम उठाया है। 1 जून से रेलवे 200 नॉन-एयरकंडीशंड स्‍पेशल ट्रेनें (Non AC special trains) चलाने जा रहा है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इसका ऐलान किया।

वहीं भारत का सबसे बड़ा ट्रांसपोर्टर देश में जहां-तहां फंसे लोगों के लिए ‘श्रमिक स्‍पेशल’ (Shramik special) ट्रेनें पहले से चला रहा है। उसके अलावा 15 जोड़ी स्‍पेशल एसी ट्रेन्‍स भी दिल्‍ली को देश के अलग-अलग हिस्‍सों से जोड़ रही हैं। इन 30 ट्रेनों में आम नागरिक सफर कर सकते हैं। रेलवे धीरे-धीरे ही सही, ट्रेनों की संख्‍या बढ़ा रहा है।

आपको बता दें कि  गोयल ने कहा है कि इन 200 नॉन-एसी ट्रेनों के टिकट की बुकिंग जल्द शुरू होगी। ज्ञात हो कि सभी ट्रेनों की बुकिंग ऑनलाइन ही शुरू होगी यानी रेलवे काउंटर से इनमें रिजर्वेशन नहीं हो सकेगा। गौरतलब है कि सूत्रों के मुताबिक, अगले हफ्ते से बुकिंग स्‍टार्ट हो सकती है।

बुकिंग के लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्‍म कॉपोर्रेशन (IRCTC) की वेबसाइट (www.irctc.co.in) या मोबाइल ऐप (IRCTC Rail Connect) का यूज करना होगा। पैसेंजर्स को खाना मिलेगा या नहीं, ये अबतक साफ नहीं है। बताया जा रहा है कि IRCTC ने कैटरिंग के लिए कॉन्‍ट्रैक्‍ट लिए हैं।

इन 200 स्‍पेशल ट्रेनों में नॉन-एसी कोच (स्‍लीपर और जनरल सेकेंड क्‍लास) होंगे। रेलवे के मुताबिक, यह ट्रेनें डेली चलेंगी। कहां से कहां तक ट्रेनें चलाई जाएंगी, इसका ऐलान नहीं किया गया है। माना जा रहा है कि 15 जोड़ी स्‍पेशल ट्रेन्‍स से दिल्‍ली को बड़े शहरों से जोड़ने के बाद, अब छोटे शहरों की कनेक्टिविटी सुधारने पर जोर हो सकता है।

रेलवे के अनुसार, इन ट्रेनों में कोई भी रिजर्वेशन करा सकता है। नैशनल ट्रांसपोर्टर का कहना है कि इससे उन प्रवासियों को भी फायदा पहुंचेगा जो किसी वजह से श्रमिक स्‍पेशल ट्रेन्‍स में सफर नहीं कर पा रहे हैं। जहां तक किराये की बात है तो रेलवे के एक अधिकारी ने कहा है इन ट्रेनों का किराया न्‍यूनतम स्‍लीपर रेट्स के हिसाब से होगा। किराये और रूट की जानकारी रेलवे अगले कुछ दिन में जारी करेगा।

अगर जाना चाहते हैं दूसरे शहर तो अभी करें ये काम, रास्ते में नहीं होगी परेशानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com