ये ट्वीट कर फंसे IPS अफसर अमिताभ ठाकुर, शासन ने मांगा जवाब

वसूली लिस्ट ट्वीट पर आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर को कारण बताओ नोटिस

लखनऊ॥ उत्तर प्रदेश शासन ने वरिष्ठ आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर द्वारा थाना कोतवाली मुगलसराय, चन्दौली की कथित वसूली लिस्ट वायरल करने के संबंध में उनका स्पष्टीकरण मांगा है।

Amitabh Thakur

शासन ने कहा है कि अमिताभ द्वारा सोशल मीडिया नीति का उल्लंघन करते हुए तथ्यों को सार्वजनिक करना अनुचित आचरण की श्रेणी में आता है एयर अवैधानिक कार्यों में लिप्त व्यक्तियों की सूची सार्वजनिक होने से उनके द्वारा अपना बचाव करने व साक्ष्यों से छेडछाड का अवसर मिलता है।

अमिताभ ने लिस्ट ट्वीट करते हुए कहा था कि इस हैण्डरिटेन लिस्ट से टोटल प्रति माह की वसूली 35.64 लाख के अलावा 15 व्यक्तियीं से अवैध खनन से 12,500 रुपये प्रति वाहन तथा पडवा कट्टा का काम करने वाले कबाड़ी से 4,000 रुपये प्रति वाहन होता है। इसमें गांजा दुकान का 25 लाख भी शामिल है। उन्होंने इन तथ्यों की गहन जांच की मांग की थी। सतर्कता अधिष्ठान की जांच में अवैध वसूली तथा विभिन्न अवैध गतिविधियां करने की पुष्टि हुई है।

अमिताभ की पत्नी एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने शनिवार को इस कारण बताओ नोटिस को अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि जहां शासन को अवैध वसूली करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए, वहीं वे भ्रष्टाचार सामने लाने वाले को ही प्रताड़ित कर रहे हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *