जया बच्चन ने कहा- एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश चल रही है; खड़े किये कई सवाल

पहले फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म और गुटबाजी का मुद्दा चर्चा में था और अब इन दिनों बॉलीवुड में ड्रग्स को लेकर चर्चा तेज हो गई है।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से लगातार फिल्म इंडस्ट्री और सिलेब्रिटीज को टारगेट किया जा रहा है। पहले फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म और गुटबाजी का मुद्दा चर्चा में था और अब इन दिनों बॉलीवुड में ड्रग्स को लेकर चर्चा तेज हो गई है। दिग्गज अभिनेत्री और राज्यसभा सांसद जया बच्चन ने संसद में तीखी प्रतिक्रिया दी है। कोरोना संकट के बीच संसद का मॉनसून सत्र शुरू हो गया है।

jaya bacchan

मंगलवार को मॉनसून सत्र का दूसरा दिन है। सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश चल रही है। जया बच्चन ने कहा कि सरकार को इस ओर ध्यान देना चाहिए। पहले दिन रवि किशन ने बॉलीवुड के ड्रग्स कनेक्शन की जांच की बात कही थी, वहीं मंगलवार को दूसरे दिन जया बच्चन ने इंडस्ट्री को बदनाम करने की साजिश का आरोप लगाया है।

एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री हर रोज 5 लाख लोगों को सीधा रोजगार देती

जया बच्चन ने कहा कि एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री हर रोज 5 लाख लोगों को सीधा रोजगार देती है। देश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है और चीजों से ध्यान हटाने के लिए हमारा इस्तेमाल किया जा रहा है। सोशल मीडिया पर निशाना साधा जा रहा है। हमें सरकार से भी समर्थन नहीं मिल रहा है। जया बच्चन ने कहा कि जिन लोगों को इंडस्ट्री ने नाम दिया, वही इसे गटर कह रहे हैं। मैं इससे असहमत हूं.

उन्होंने आगे कहा कि सरकार को इन लोगों से कहना चाहिए कि ऐसी भाषा का इस्तेमाल न करें। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों की वजह से पूरी इंडस्ट्री को बुरा नहीं कहा जा सकता। मुझे शर्म आती है कि कल एक शख्स जो खुद उसी इंडस्ट्री से है, इसके विरोध में बोल रहा था। यह शर्मनाक है।

इससे पहले सोमवार को अभिनेता और भाजपा सांसद रवि किशन ने लोकसभा में ड्रग्स का मसला उठाया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि इससे देश का युवा बर्बाद हो रहा है और बॉलीवुड में भी इसके बड़े कनेक्शन हैं। रवि किशन ने कहा था कि बॉलीवुड में ड्रग्स के इस्तेमाल में पाकिस्तान और चीन की साजिश हो सकती है और सरकार इस मामले की गहराई से जांच कराए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *