अमेरिका में जो बाइडेन की राजतिलक तैयारियों के बीच ट्रंप पर ‘महाभियोग’ का कसता शिकंजा

हमारे देश में कहावत है अंत भला तो सब भला । यानी आखिरी में जो कुछ होता है वह अच्छा माना जाता है । लेकिन यह बात अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए लागू नहीं होती है ।

हमारे देश में कहावत है अंत भला तो सब भला । यानी आखिरी में जो कुछ होता है वह अच्छा माना जाता है । लेकिन यह बात अमेरिका में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए लागू नहीं होती है । अब बस चंद दिन रह गए हैं जो बाइडेन के राष्ट्रपति पद संभालने के लिए ।

trump biden

बाइडेन 20 जनवरी को अमेरिका के नए राष्ट्रपति बन जाएंगे। एक तरफ बाइडेन की राजतिलक की तैयारी की जा रही है वहीं दूसरी ओर डोनाल्ड ट्रंप एक मुजरिम के रूप में आ खड़े हुए हैं । सही मायने में डोनाल्ड ट्रंप अपने राष्ट्रपति कार्यकाल के आखिरी दिन बहुत अपमानित होकर बिता रहे हैं । अमेरिका में ही उनका विरोध बढ़ता जा रहा है ।

यही नहीं उनके पार्टी रिपब्लिक के नेता भी उनकी खिलाफत करने लगे हैं । बता दें कि ट्रंप पर कैपिटल हिल्स (संसद भवन) में हिंसा भड़काने का आरोप है। इसी आरोप के आधार पर विपक्षी पार्टी डेमोक्रेट्स ने उनके खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया शुरू कर दी है । हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्ज की अध्यक्ष नेंसी पेलोसी ने रविवार को ही ट्रंप के खिलाफ महाभियोग प्रस्ताव लाने की मंजूरी दी थी । उसके बाद अमेरिकी संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही हो रही है ।

इस संबंध में लाए गए प्रस्ताव पर बुधवार को मतदान होगा। इसके जरिये ट्रंप पर महाभियोग के लिए आरोप तय किए जाएंगे। सदन में यह प्रस्ताव सोमवार को पेश किया गया। इसमें ट्रंप पर मुख्य रूप से यह आरोप लगाया गया है कि उन्होंने कैपिटल हिल यानी संसद परिसर पर हमले के लिए अपने समर्थकों को उकसाया था। बता दें कि अमेरिका में ट्रंप चौतरफा घिर गए हैं । भावी राष्ट्रपति जो बाइडेन की डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने ट्रंप को 20 जनवरी से पहले पद से हटाने के लिए कमर कस ली है।

डेमोक्रेट के महाभियोग चलाए जाने पर डोनाल्ड ट्रंप ने दी धमकी

डेमोक्रेट पार्टी के नेता नैंसी पेलोसी ने कहा, हमारे संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के लिए हमें तुरंत कदम उठाना होगा क्योंकि राष्ट्रपति ट्रंप अमेरिका के लिए खतरा हैं। प्रतिनिधि सभा में अब एक अन्य प्रस्ताव पर भी मतदान होगा। इस प्रस्ताव के माध्यम से ट्रंप को हटाने के लिए उप राष्ट्रपति माइक पेंस और कैबिनेट से अपील की जाएगी।

उनसे यह कहा जाएगा कि वे 25वें संविधान संशोधन के प्रावधानों को लागू कर राष्ट्रपति ट्रंप की तत्काल छुट्टी कर दें। दूसरी ओर मंगलवार को अपने खिलाफ महाभियोग चलाए जाने पर डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर चेतावनी देते हुए कहा है कि इसका अंजाम भयानक होगा । ट्रंप ने कहा कि 25वां संशोधन मेरे लिए कोई मायने नहीं रखता ।

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि महाभियोग की संभावनाओं की वजह से देश में गुस्सा पैदा हो रहा है, लेकिन वह ‘हिंसा नहीं’ चाहते हैं । बता दें कि प्रतिनिधि सभा में ट्रंप के खिलाफ महाभियोग की कार्यवाही शुरू हो चुकी है । आज इस बारे में लाए गए प्रस्ताव पर वोटिंग हो रही है । इस महाभियोग प्रस्ताव में निवर्तमान राष्ट्रपति पर छह जनवरी को ‘राजद्रोह के लिए उकसाने’ का आरोप लगाया गया है। – शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *