कासगंज कांड : आगरा के किसान का इकलौता बेटा था सिपाही देवेंद्र, चार माह पहले ही…

उत्तर प्रदेश के कासगंज में शहीद हुए सिपाही देवेंद्र अपने घर का इकलौता बेटा था। उसके परिवार में किसान पिता महावीर, बहन प्रीति जिसकी मई में शादी है।

कासगंज। उत्तर प्रदेश के कासगंज में शहीद हुए सिपाही देवेंद्र अपने घर का इकलौता बेटा था। उसके परिवार में किसान पिता महावीर, बहन प्रीति जिसकी मई में शादी है। पत्नी चंचल, दो बेटियां हैं। बड़ी बेटी वैष्णवी तीन साल की है, जबकि छोटी बेटी चार माह की है। छोटी बेटी का नाम गुड़िया है। पति के मौत की खबर से पत्नी बेसुध है। उसकी हालत देखी नहीं जा रही है। सभी उसे शांत कराने का प्रयास कर रहे हैं।
The son of a farmer living in Agra is a martyr

मई में होनी है छोटी बहन की शादी

सिपाही देवेंद्र की शहीद होने की जानकारी शमसाबाद थाना में रहने वाले सिपाही ने फोन कर परिवार को दी है। सूचना देने वाला सिपाही कासगंज में तैनात है। देवेंद्र के शहीद होने की खबर मिलते ही पूरे गांव के लोग स्तब्ध है। हर कोई ये कह रहा है कि जो भी हुआ वो बहुत ही बुरा हुआ है। देवेंद्र घर का कमाने वाला इकलौता था। मई में उसकी बहन की शादी है।
बता दें कि कासगंज में छापेमारी के दौरान दरोगा को बंधक बनाए जाने और सिपाही देवेंद्र की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। उनके शहीद होने की खबर जैसे ही उनके गृह जनपद आगरा के गांव नगला बिंदू में रहने वाले किसान पिता महावीर सिंह को पता चली तो पूरे घर में कोहराम मच गया। पिता रात में ही रिश्तेदार के साथ कासगंज के लिए रवाना हो गए। सांत्वना देने के लिये ग्रमीणों की भीड़ सिपाही के घर में मौजूद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *