Trending

दिल्ली के इन 11 स्थानों पर केजरीवाल सरकार बनाएगी फूड ट्रक हब , लजीज व्यंजन के साथ होगा मनोरंजन

फूड ट्रक हब के लिए कुल 30 जगहें चिन्हित की गई है। इनमें से पहले चरण में 11 जगहों पर फूड ट्रक हब खोले जाएंगे। दिल्ली के सभी 11 जिलों में

नई दिल्ली। दिल्लीवालों को आधी रात के बाद खाने की तलाश में भटकना नहीं पड़ेगा। केजरीवाल सरकार राजधानी में फूड ट्रक नीति के तहत 11 फूड ट्रक हब बनाएगी, जहां लोगों को न सिर्फ लजीज व्यंजन मिलेंगे, बल्कि उनका मनोरंजन भी होगा।

delhi

फूड ट्रक हब के लिए कुल 30 जगहें चिन्हित की गई है। इनमें से पहले चरण में 11 जगहों पर फूड ट्रक हब खोले जाएंगे। दिल्ली के सभी 11 जिलों में एक-एक फूड ट्रक हब खोला जाएगा। यह जगह रात दो बजे तक खुली रहेंगी। दिल्ली के 11 स्थानों पर फूड ट्रक हब बनाएगी केजरीवाल सरकार, लजीज व्यंजन के साथ होगा मनोरंजन

फूड ट्रक हब के लिए कुल 30 जगहें चिन्हित की गई है। इनमें से पहले चरण में 11 जगहों पर फूड ट्रक हब खोले जाएंगे। दिल्ली के सभी 11 जिलों में एक-एक फूड ट्रक हब खोला जाएगा। यह जगह रात दो बजे तक खुली रहेंगी।

अधिकारियों की मानें तो पर्यटन विभाग को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। अभी जिन 30 जगहों को चिन्हित किया गया है उसमें मेट्रो स्टेशन, पर्यटन स्थल, प्राचीन स्थल के परिसर समेत वे जगहें शामिल हैं, जहां पर्यटकों के साथ स्थानीय लोग भी मौज-मस्ती के लिए बड़ी संख्या में जाते हैं।

हालांकि इनमें से पहले चरण में कुल 11 जगहों पर फूड ट्रक हब खोले जाएंगे। यहां पर प्लग एंड प्ले के आधार पर ही फूड ट्रक लगाने की व्यवस्था होगी।

अर्थव्यवस्था को फायदा : सरकार लंबे समय से रात्रि की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की दिशा में काम कर रही है, इसलिए फूड ट्रक हब को रात 8 बजे से रात 2 बजे तक खोलने की योजना बनाई गई है। खाने के अलावा यहां लोगों को प्रस्तुति देने के लिए अलग से जगह दी जाएगी। अगर कोई अपने संगीत, गिटार या नुक्कड़ नाटक प्रस्तुत करना चाहता है तो उसे वहां जगह उपलब्ध कराई जाएगी।

60 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार : दिल्ली सरकार ने रोजगार बजट में दिल्ली में फूड ट्रक पॉलिसी लॉन्च करने की घोषणा की थी। सरकार का मकसद इसके जरिये रोजगार उपलब्ध कराना था। सरकार का अनुमान है कि इस के जरिए 60 हजार लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्क्ष रूप से रोजगार मिलेगा। पर्यटन बढ़ेगा तो अर्थव्यवस्था को भी फायदा मिलेगा।

ये सुविधाएं होगी

● प्लग एंड प्ले पर आधारित होगा, यानी फूड ट्रक को स्थायी जगह नहीं मिलेगी।

● दिल्ली की नाइट लाइफ को बढ़ावा दिया जाएगा देर रात दो बजे तक खुलेंगे।

● मनोरंजन के लिए वहां अपनी कला का प्रदर्शन करने के लिए अलग से जगह होगी।

● संगीतमय, नुक्कड़ नाटक जैसे आयोजनों की भी मंजूरी मिलेगी।

● दिल्ली के मशहूर व्यंजनों के लिए फूड ट्रक हब में प्राथमिकता दी जाएगी।

पेट्रोल और डीजल पर राहत! तेल कंपनियों ने जारी किए नए दाम, सबसे सस्ता फ्यूल Rs 79.74 लीटर