Ramganga River पर बना कोला घाट का पुल टूट कर गिरा, टला बड़ा हादसा, आवागमन बंद

बदायूं शाहजहांपुर मार्ग पर थाना क्षेत्र मिर्जापुर मार्ग पर बड़ा हादसा टल गया है। मिर्जापुर जलालाबाद के बीच बना कोलाघाट पुल (Ramganga River) टूट कर...

शाहजहांपुर। बदायूं शाहजहांपुर मार्ग पर थाना क्षेत्र मिर्जापुर मार्ग पर बड़ा हादसा टल गया है। मिर्जापुर जलालाबाद के बीच बना कोलाघाट पुल (Ramganga River) टूट कर जमीन पर गिर गया है। रात 3 बजे यह हादसा हुआ। मिर्जापुर पुलिस की सजगता के चलते कोई भी जनहानि नहीं हुई। पुलिस ने दोनों तरफ से पहुंचकर मार्ग को अवरुद्ध कर रूट डायवर्ट कर दिया। जिलाधिकारी ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

up shahjahanpur - Ramganga River

 

बताते चलें कि पुल का एक कुआं जमीन के अंदर चला गया है। 2 महीने पहले पुल की मरम्मत का कार्य किया गया था। पीडब्ल्यूडी विभाग ने इसमें लीपापोती करके मरम्मत के लिए मिली धनराशि को खा लिया था जिसकी वजह से कार्य भी संतोषजनक नहीं हुआ। यह कार्य नहीं केवल लीपापोती थी इस लीपापोती के जरिए (Ramganga River) पुल को संवारने का काम किया गया था लेकिन लीपापोती पुल को नहीं रोक सकी। अगर प्रशासन और निर्माण एजेंसियां समय पर जाग जाती तो घटना टल सकती थी।shahjahanpur- Ramganga River

फर्रुखाबाद से बरेली के लिए सबसे ज्यादा ट्रैफिक इसी पुल से होकर गुजरता है। हरदोई, दिल्ली लखनऊ को जाने वाले ट्रक पूरी रात इसी मार्ग निकलते हैं क्योंकि यह रोड टोल फ्री है जिससे बड़े मालवाहक ट्रक और लंबी दूरी को जाने वाले मालवाहक बड़े-बड़े ट्रक इसी पुल से गुजरते हैं। (Ramganga River) पुल की आधारशिला उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने रखी थी। इसकी मांग वर्तमान समाजवादी पार्टी के जलालाबाद से विधायक शरद वीर सिंह के पिता विधायक स्वर्गीय कुंवर उदयवीर सिंह ने मुख्यमंत्री से की थी।

up shahjahanpur

2010 में प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने पुल शुभारंभ किया 

उन्होंने कहा था कि यह दस्यु प्रभावित क्षेत्र है और बरसात के दिनों में भयंकर बाढ़ से रामगंगा (Ramganga River) यहां विकराल रूप धारण कर लेती है जिससे मिर्जापुर-कलान -परौर थानो का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट जाता है। ऐसे में बरसात के दिनों में फर्रुखाबाद से होकर गुजरना पड़ता था। उस समय दस्यु सरगना कलुआ के आतंक के कारण पुल का निर्माण संगीनों के साए में पीएसी की मौजूदगी में करवाया गया था। जब पुल बनकर तैयार हुआ तो समाजवादी पार्टी की सरकार सत्ता से बेदखल हो गई फिर 2010 में प्रदेश की तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने पुल शुभारंभ कर आवागमन के लिए जनता को समर्पित कर दिया था।

थाना अध्यक्ष मिर्जापुर मान बहादुर सिंह ने बताया की रात्रि लगभग 2:30 बजे एक ट्रक चालक ने सूचना दी कि कोला घाट (Ramganga River) का पुल गिर गया है। यह सूचना मिलते ही तत्काल वायरलेस मैसेज जिला मुख्यालय पर पास किया गया फिर उसके बाद मिर्जापुर थाना पुलिस ने इस ओर तथा दूसरी ओर इंस्पेक्टर जलालाबाद ने पुलिस बल को ले जाकर बैरिकेडिंग कराई और मार्ग को अवरुद्ध कर दिया गया। इसके साथ ही पुलिस ने डायवर्जन लगाया फिर फर्रुखाबाद की ओर से बरेली और शाहजहांपुर के लिए आवागमन शुरू हो सका।

सजगता के चलते कोई बड़ी जनहानि नहीं हुई

पुलिस की सजगता के चलते कोई बड़ी जनहानि नहीं हुई है लेकिन एक कार जो पुल पर चल रही थी पुल का हिस्सा जब टूट कर नीचे गिरा तो कार भी उनके साथ जमीन पर आ गई। कार के ड्राइवर मुझे ने बताया कि वह 5 लोगों के साथ इलाहाबाद से मुरादाबाद जा रहा था। रात में यह घटना के समय में फंस गया और जब पुल नीचे धंस रहा था तो उसकी सांसे रुक गई थी। उन सबका कहना है कि सभी की जान बच गई तो उन्हें बड़ा आश्चर्य हुआ। उनके साथ एक घायल था जिसे पुलिस ने किसी तरीके से स्ट्रेक्चर से निकाल कर उसको अस्पताल पहुंचाया।

अतिरिक्त जिला अधिकारी ने बताया कि (Ramganga River) पुल क्यों बैठा है

वहीं घटना के बाद करीब 11 बजे अतिरिक्त जिला अधिकारी गिरिजेश कुमार चौधरी सेतु निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर देवेंद्र सिंह एवं पीडब्ल्यूडी विभाग के आला अधिकारी जलालाबाद के कोतवाल कमल सिंह क्षेत्राधिकारी मास्सा सिंह सहित दर्जनों अधिकारी पुल का निरीक्षण करने पहुंचे। अतिरिक्त जिला अधिकारी ने बताया कि पुल क्यों बैठा है, यह जांच का विषय है और इसकी जांच कराई जाएगी। वहीं अतिरिक्त जिलाधिकारी गिरिजेश चौधरी ने बताया कि आवागमन के लिए शीघ्र से शीघ्र पेट्रोन (Ramganga River) पुल का निर्माण कराया जाएगा ताकि आसपास के लोगों का आवागमन सुचारू रूप से चलता रहे।

वहीं आज चार नावें भी नदी में पहुंच गयी जो पैदल यात्रियों को वहां से निकालने का काम कर रही हैं। जलालाबाद के पूर्व विधायक नीरज कुशवाहा मोरी में सोमवार को पीडब्ल्यूडी विभाग का काम देख रहे तुम मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य उनके कार्यालय जाकर पुल के टूट कर गिर जाने की जानकारी दी और उसे शीघ्र ही बनवाये जाने की मांग। इसके साथ ही उच्च स्तरीय जांच की बात कही जिस पर उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने उच्च अधिकारियों को फोन से सूचना देकर तत्काल आवागमन सुचारू रूप से चलाए जाने की वैकल्पिक व्यवस्था के निर्देश दिए हैं। (Ramganga River)

Yogi Adityanath: छोटे बच्‍चे के साथ ड्यूटी कर रही थी महिला सिपाही, CM योगी की नजर पड़ी तो पहुंच गए उसके पास...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close