5AC423FB902F99F7B04A6C0E44CE75FA

राज्यसभा से भी SPG संशोधन बिल पास, अमित शाह ने इस अंदाज में गांधी परिवार पर बोला हमला

New Delhi. SPG संशोधन बिल 2019 राज्यसभा से भी पास हो गया है। यह बिल लोकसभा से पहले ही पास हो चुका है। राज्यसभा में बिल पर चर्चा के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने गांधी परिवार पर जमकर निशाना साधा।

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि मैं साफ करना चाहता हूं कि गांधी परिवार को ध्यान में रखते हुए यह बिल नहीं लाया गया। बिल से गांधी परिवार का कोई संबंध नहीं है। मैं जरूर कहना चाहता हूं पिछले परिवर्तन एक परिवार को ध्यान में रखते हुए किए गए थे। सुरक्षा सभी को मिलनी चाहिए। 130 करोड़ लोगों की सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार की है। SPG सुरक्षा की जिद मुझे समझ नहीं आती।

Loading...

अखबार विक्रेता की पत्नी डेढ़ साल से न्याय पाने के लिए लगा रही गुहार, SPTG ने मिलने से किया इंकार, कहा- मुझसे कोई

अमित शाह ने कहा कि सरकार ने गांधी परिवार से सुरक्षा वापस नहीं ली है। सिर्फ बदलाव किया गया है। जो रक्षा मंत्री, गृह मंत्री और उपराष्ट्रपति और राष्ट्रपति को सुरक्षा मिली है, वही उनको भी मिली है। उन्होंने कहा कि कम्यूनिस्ट पार्टी को राजनीतिक बदले पर बोलने को कोई हक नहीं है। केरल में बीजेपी-आरएसस के 120 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो जाती है। ये सिर्फ राजनीतिक बदले में होती है।

फर्जीवाड़ा करने वाले रिटायर्ड IAS मणि प्रसाद पर योगी सरकार मेहरबान, खुलासे के 6 माह बाद भी कार्रवाई नहीं!

प्रियंका गांधी की घटना पर अमित शाह ने कहा कि प्रियंका वाड्रा के घर एक घटना हुई। प्रियंका गांधी के घर जो सुरक्षा है इसमें राहुल गांधी, रॉबर्ट वाड्रा सुरक्षा जांच के बिना अंदर आते हैं। सुरक्षाकर्मियों के पास एक सूचना आई कि राहुल गांधी एक काली सफारी गाड़ी में आने वाले हैं। ठीक उसी समय एक काली सफारी गाड़ी आई और उसमें शारदा त्यागी कांग्रेस मेरठ की नेता थीं। चूंकि समय भी वही था, इसलिए वह बिना सिक्यॉरिटी जांच के अंदर चली गईं। समय वही था और गाड़ी भी काली थी तो सिक्यॉरिटी एजेंसियों ने उन्हें जाने दिया।

यह एक इत्तेफाक था। इसके बावजूद हमने इस मामले की उच्चस्तरीय जांच का आदेश दिया है। इस मामले में तीन सुरक्षाकर्मियों को सस्पेंड किया गया है। इस तरह की चीजों को गोपनीय रखा जाता है। इसकी जानकारी प्रेस को नहीं देनी चाहिए थी। अगर राजनीति करनी है तो प्रेस को दे सकते हैं, वरना एक गोपनीय पत्र मुझे भी लिख सकते हैं।

Loading...
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com