यूपी में अब प्यार पर रहेगी ‘खुफिया नजर’, जुटाई जा रही लव अफेयर्स की जानकारी

दरअसल योगी सरकार चाहती है कि पंचायत चुनावों में ये मामले हिंसा और दंगों का कारण न बनें, इसलिए पहले ही एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे स्थिति से बचने के लिए इस तरह की जानकारी राज्य के गांवों से जुटाई जा रही हैं। 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब इंटेलिजेंस एजेंसियां गांव-गांव लव जिहाद और अवैध इंटरकास्ट लव अफेयर्स की जानकारी जुटाएंगी। ये निर्णय आने वाले पंचायत चुनावों को देखते हुए लिया गया है। दरअसल योगी सरकार चाहती है कि पंचायत चुनावों में ये मामले हिंसा और दंगों का कारण न बनें, इसलिए पहले ही एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं। ऐसे स्थिति से बचने के लिए इस तरह की जानकारी राज्य के गांवों से जुटाई जा रही हैं।

CM YOGi

उत्तर प्रदेश के एडीजी (इंटेलिजेंस) एसबी शिरोडकर द्वारा एक खत जारी किया गया है। उन्होंने पंचायत चुनावों के मद्देजनर 11 पॉइंट्स पर जानकारी जुटाने का आदेश दिया है। इन बिंदुओं में एक पॉइंट लव अफेयर भी है। आदेश दिए गए हैं कि ऐसे किसी भी विवाद को लेकर जानकारी जुटाई जाए, अगर कोई ऐसा है तो वर्तमान में गांव में क्या स्थिति है और क्या पुलिस ने कोई एक्शन लिया है या नहीं। ऐसी ही अन्य जानकारियां जुटाने को कहा गया है। इंटेलिजेंस का मानना है कि ऐसे मामले बाद में तूल पकड़ लेते हैं और विवाद का कारण बनते हैं।

इसके अलावा, ऐसे लोगों की भी जानकारी जुटाई जा रही है, जो अचानक से अमीर बन गए। जातीय विवाद, भूमि विवाद, धार्मिक स्थल विवाद के बारे में भी जानकारी हासिल की जा रही है। आगामी पंचायत चुनाव में विवाद का कारण क्या हो सकता है, इसकी आशंका से पहले ही जानकारी मांगी गई है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनावों को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। ऐसी स्थिति में पुलिस से लेकर इंटेलिजेंस एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। पंचायत चुनावों के ठीक एक साल बाद साल 2022 में यूपी में विधानसभा चुनाव होंगे इसलिए इस कदम की अहमियत और बढ़ गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *