इस सरकारी में अस्पताल में लगी आग, 10 बच्चों की हुई दर्दनाक मौत

मामले की उच्चस्तरीय जांच होगी: मुख्यमंत्री

महाराष्ट्र राज्य के भंडारा जिले में स्थित जिला सिविल अस्पताल के सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट में बीती देर रात 2 बजे आकस्मिक आग लगने से दस बच्चों की मौत हो गई। इस घटना में सात बच्चों को बचा लिया गया है। सभी बच्चों की उम्र 1 से 3 महीने के बीच बताई जा रही है। सीएम उद्धव ठाकरे ने इस घटना को दुखद बताया है और मामले की उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया है।

fire

भंडारा सिविल अस्पताल के मुताबिक सिक न्यूबॉर्न केयर यूनिट में जिस वक्त आग लगी तब वहां कुल 17 नवजात बच्चे मौजूद थे। यहां नर्स से यूनिट में आग लगने की सूचना मिलने पर तत्काल इसकी जानकारी फायर ब्रिगेड को दी गई, लेकिन 10 बच्चों की आग में झुलसकर मौत हो गई। इसके बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड ने अस्पताल में लोगों की सहायता से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया।

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बताया कि यह घटना बहुत ही दुखद है। इस घटना में जिन दस बच्चों की मौत हुई है, उनमें 3 की जलने से व 7 की दम घुंटने से मौत हुई है। आग लगने का प्राथमिक कारण शार्ट सर्किट बताया जा रहा है, लेकिन इस घटना की उच्चस्तरीय जांच शुरू कर दी गई है। जो भी दोषी मिलेगा, उसपर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इस घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय नागरिकों में रोष फैल गया है। अस्पताल में जिन लोगों के बच्चे थे, उसके परिजन अस्पताल के बाहर जमा हो गए हैं। जमा भीड़ ने यहां डॉक्टर, नर्स सहित अस्पताल स्टाफ पर सोये रहने का आरोप लगाया है और मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *