बसपा और कांग्रेस के कई बड़ें नेता सपा में शामिल, पार्टी में दौड़ी खुशी की लहर

प्रमुख विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) इस समय अपना कुनबा बढ़ाने में लगी हुई है।

उत्तर प्रदेश की प्रमुख विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) इस समय अपना कुनबा बढ़ाने में लगी हुई है। सोमवार को बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और कांग्रेस के कई नेताओं ने सपा मुखिया अखिलेश यादव की उपस्थिति में पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। पिछले दिनों कांग्रेस की पूर्व सांसद अनु टंडन भी सपा में शामिल हुई थीं।

samajwadi party

सपा की सदस्यता ग्रहण करने वालों में चंदौली से बसपा के पूर्व सांसद कैलाश सिंह यादव, उनके बेटे व ओबरा सोनभद्र से पूर्व विधायक सुनील सिंह यादव, मीरजापुर के पूर्व सांसद बाल कुमार पटेल, सीतापुर की पूर्व सांसद कैसर जहां, पट्टी प्रतापगढ़ से पूर्व विधायक राम सिंह पटेल, पूर्व विधायक लहरपुर जासमीर अंसारी व आशीष मिश्रा हैं।

इनमें कैलाश सिंह यादव और उनके बेटे अपने समर्थकों के साथ बसपा छोड़कर सपा की सदस्यता ग्रहण किये हैं, जबकि बाल कुमार पटेल और कैसर जहां कांग्रेस से सपा में शामिल हुए हैं। इसके अलावा पट्टी प्रतापगढ़ के पूर्व विधायक राम सिंह पटेल, सीतापुर के हरगांव विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे रमेश राही और पूर्व विधायक जस्मीन अंसारी ने भी अपने समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़कर सपा की सदस्यता ग्रहण की है।

इस मौके पर सपा मुखिया अखिलेश यादव ने पार्टी में शामिल हुए सभी नेताओं का स्वागत किया और कहा कि इतने अधिक लोग आज सपा में शामिल हुए, मैं सभी के प्रति आभार प्रकट करता हूं। सपा मुखिया ने इस अवसर पर भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा की सरकारों ने जो भी निर्णय लिए उससे देश और प्रदेश का बड़ा नुकसान हुआ। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने नोटबंदी सिर्फ अपने लाभ के लिए किया था।

पूर्व में अखिलेश यादव ने नोटबंदी पर दीपक पांडेय की लिखी हुई दो पुस्तकों का लोकार्पण भी किया। उन्होंने दावा किया कि वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में सपा भारी बहुमत के साथ प्रदेश में सरकार बनाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *