नाबालिग लड़की से गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने कब्र से शव को निकाला, जानें कैसे हुआ खुलासा

पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए सामूहिक दुष्कर्म के चार आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है, जबकि मंगलवार को शव को भी कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी गयी।

साहेबगंज। झारखंड के मुख्यमंत्री  हेमंत सोरेन के विधानसभा क्षेत्र बरहेट में नाबालिग लड़की से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या जैसी मानवता को शर्मसार करने वाली एक घटना कथित तौर पर घटित होने और फिर मामले को दबाने की कोशिश की बात सामने आयी है। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए सामूहिक दुष्कर्म के चार आरोपियों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है, जबकि मंगलवार को शव को भी कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी गयी।
dead_body-sahebganj

मामले को दबाने की कोशिश में शव को दफना दिया गया

जानकारी के अनुसार रांगा थाना क्षेत्र के लखीपुर तियो टोला गांव में एक 14 वर्षीय नाबालिग लड़का के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद हत्या कर दी गयी। मामले को दबाने की कोशिश में आनन-फानन में रविवार को शव को दफना दिया गया। लेकिन जब पुलिस-प्रशासन के सामने यह बात सामने आयी, तो दंडाधिकारी सह पलना प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी सुमन  कुमार सौरभ की उपस्थिति में पुलिस द्वारा मंगलवार को कब्र निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल साहेबगंज भेजा गया।

बैंक से पैसे की निकासी करने गई थी लड़की

बताया जाता है कि रांगा थाना क्षेत्र अंतर्गत लखीपुर तियोटोला गांव की 14 वर्षीय नाबालिग लड़की अपनी एक नाबालिक सहेली के साथ बीते बुधवार को बैंक से पैसे की निकासी करने गई थी। बैंक से निक पैसा निकासी करने के बाद दोनों लड़की तालझारी पंचायत के अपने दो लड़के मित्र के साथ कल्याणपुर गांव फुटबॉल मैच देखने निकल गई थी। इसके बाद शनिवार तक दोनों लड़की का कुछ भी अता पता नहीं चल सका था। रविवार की सुबह उसमें से एक नाबालिग लड़की का शव गांव में ही एक निर्माणाधीन मकान के छज्जे में पड़ा मिला था।

सहेली ने दी जानकारी

लड़की की नाक और मुंह से खून निकलता देखकर घरवाले यह समझे की सर्पदंश से मौत हुई होगी और उसे दफना दिया गया।  बाद में रविवार की शाम को लड़की की उक्त सहेली ने वापस गांव लौटकर अपने और अपनी सहेली के साथ सामूहिक दुष्कर्म होने की बात मृतका के परिजनों को दी। उसने कहा कि वे किसी तरह से जान बचाकर भागने में सफल हुई थी। इसके बाद सोमवार को मृतका के पिता रांगा थाना पहुंचकर इसकी सूचना दी थी। इसके बाद पुलिस हरकत में आई।

चार आरोपी हिरासत में

मामले में राजमहल एसडीओ हरिवंश पंडित के निर्देश पर पतना प्रखंड के वीडीओ सुमन कुमार सौरभ दंडाधिकारी नियुक्त किया गया था। जिनकी उपस्थिति में मंगलवार को नाबालिग लड़की का शव कब्र से बाहर निकाल कर उसे पोस्टमार्टम के लिए साहेबगंज सदर अस्पताल भेजा गया। जहां प्रशासन की ओर से नियुक्त मेडिकल बोर्ड की टीम द्वारा पोस्टमार्टम कर यह जानने का प्रयास किया जाएगा कि लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना घटित हुई या नहीं? इसके आधार पर ही आगे की कार्रवाई तय की जाएगी । मृतका की सहेली के बयान पर इस मामले में पांच लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने पूछताछ के लिए चार युवकों को हिरासत में ले लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *