Narmada River: मौत की वजह बना सेल्फी लेने का शौक, नर्मदा में बहीं सास बहु, पिकनिक मनाने गया था परिवार

मध्यप्रदेश के जबलपुर से एक दर्दनाक घटना घट गई है। यहां सेल्फी लेने का शौक दो महिलाओं पर काफी भारी पड़ गया और उनकी मौत हो गयी है...

मध्य प्रदेश। मध्यप्रदेश के जबलपुर से एक दर्दनाक घटना घट गई है। (Narmada River) यहां सेल्फी लेने का शौक दो महिलाओं पर काफी भारी पड़ गया और उनकी मौत हो गयी है। यह घटना न्यू भेड़ाघाट के धुंआधार झरने की है, जहां पर मुंबई के घाटकोपर का एक परिवार पिकनिक मनाने आया हुआ था।

Narmada River

पैर फिसलने से घटी घटना

घटना को लेकर मिली जानकारी के मुताबिक सास हंसा सोनी अपनी होने वाली बहू रिद्धि के साथ वहां स्थित एक झरने (Narmada River) के काफी नजदीक की एक चट्टान पर सेल्फी ले रही थीं। इसी बीच अचानक से सास का पैर चट्टान से फिसल गया जिस पर बहु रिद्धि उन्हें बचाने की कोशिश करने लगी, तभी दोनों नर्मदा नदी के तेज धारा में बह गईं। काफी तलाश के बाद सास का शव तो मिल गया लेकिन होने वाली बहू की तलाश जारी है।

सास का शव मिला

सास और बहू के नदी में गिरते ही परिजन चीख पुकार करने लगे। सूचना मिलते ही रेस्क्यू टीम भी मौके पर पहुँच गई और बचाव कार्य में जुट गई। तिलवारा थाने के एसई लेखराम सिंह ने बताया कि गोताखोर और होमगार्ड ने देर रात को हंसा सोनी का शव पानी (Narmada River) से निकाल लिया गया लेकिन बहू की तलाश अभी जारी है।

सुरक्षा व्यवस्था न होने से घटती है घटना

गौरतलब है कि ये भेड़ाघाट की पहली घटना नहीं है, यहां सेल्फी के चक्कर में पहले भी कई लोग जाना गंवा चुके हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि भेड़ाघाट के धुआंधार जलप्रपात क्षेत्र (Narmada River) में सुरक्षा व्यवस्था नहीं है। इस स्थान पर न तो पर्यटकों को रोकने के लिए सुरक्षाकर्मी मौजूद रहता है और न ही कोई सांकेतिक बोर्ड लगाया गया है।

शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया

बताया जा रहा है कि मृतक हंसा सोनी और रिद्धि का आने वाली 12 जनवरी को मुंबई वापस जाने का कार्यक्रम था। इस घटना के बाद से अरविंद एवं राज सोनी का बुरा हाल है और वे किसी से भी कुछ कह पाने की स्थिति में भी नहीं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close