NASA को मिली एक ऐसी तस्वीर, देखते ही ख़ुशी से उछल पड़े वैज्ञानिक, आप भी जानकर हो जाएंगे हैरान

नासा (NASA) के रोवर ने जो नई तस्वीरें भेजी हैं, उससे पता चलता है कि अरबों साल पहले पानी (Water in Mars) की वजह से इस लाल ग्रह को आकार देने में मदद मिली थी.

नासा के वैज्ञानिक दुनिया को और भी आधुनिक तरक्की देने के लिए दिन रात काम करते हैं, आपको बता दें कि वैज्ञानिक लगातार मंगल ग्रह (Mars) पर जीवन तलाश रहे हैं. इसमें महत्वपूर्ण खोज पानी की है. अब नासा के वैज्ञानिकों (NASA Scientist) को इससे जुड़े अहम सबूत हाथ लगे हैं. नासा (NASA) के रोवर ने जो नई तस्वीरें भेजी हैं, उससे पता चलता है कि अरबों साल पहले पानी (Water in Mars) की वजह से इस लाल ग्रह को आकार देने में मदद मिली थी.

वहीँ आपको बता दें कि नासा ने इन नए सबूतों को अपनी उपलब्धि करार दिया है. नासा के रोवर ने 18 फरवरी 2021 में जेरेरो क्रेटर (Jezero Crater) पर लैंड किया था. आपको बता दें कि नासा ने बताया कि रोवर ने ऐसी तस्वीरें भेजी हैं, जिससे पता चलता है कि 3.7 अरब साल पहले मंगल के निर्माण में पानी की बड़ी भूमिका रही होगी.

गौरतलब है कि तस्वीरों में एक सूखे पानी की झील के निशान दिखाई देते हैं. रोवर ने सूखी झील की तस्वीरों को पृथ्वी पर भेजा है. यह तस्वीरें मंगल के उस क्षेत्र की हैं, जहां पर पानी की संभावना सबसे ज्यादा है. वैज्ञानिक मानकर चल रहे हैं कि ग्रह पर एक झील हुआ करती थी, जिसमंे अक्सर बाढ़ भी आती थी. इसकी वजह से झील के आसपास शिलाखंड जैसी बड़ी-बड़ी विशालकाय चट्‌टानें झील में समा गई. यह शिलाखंड आज भी झील में मौजूद हैं. वैज्ञानिक ने बताया कि झील के अंदर जो शिलाखंड आ गए थे, उनके नीचे नए परतों को निर्माण हुआ है, जिससे कई जानकारियां हासिल होती हैं.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *