Navratri Fasting: नवरात्रि के दिनों में अपने घर में ऐसे बनाएं फलाहार

नवरात्रि के शुभ दिनों के दौरान दुर्गा पूजा की जाती है। भक्त मां दुर्गा के आशीर्वाद के लिए अधिक मात्रा में प्रसाद चढ़ाते हैं और प्रार्थना करते हैं।

नवरात्रि के शुभ दिनों के दौरान दुर्गा पूजा की जाती है। भक्त मां दुर्गा के आशीर्वाद के लिए अधिक मात्रा में प्रसाद चढ़ाते हैं और प्रार्थना करते हैं। इस दौरान जो भक्त फास्ट रखते हैं वो मांसाहारी भोजन, शराब, प्याज , लहसुन और कई प्रकार के अनाज, दाल और मसालों से परहेज़ करते हैं। व्रत में इस्तेमाल होने वाली सबसे लोकप्रिय सामग्री सिंघाड़ा का आटा है। सिंघाड़ा जिसे वाटर चेस्टनट के रूप में भी जाना जाता है। सिंघाड़ा एक ऐसा फल है जो बॉडी में पानी की कमी को पूरा करता है। यह आमतौर पर सर्दियों का फल है जिससे पीसकर आटा तैयार किया जाता है जो पूरे साल मिलता है।

Happy Navratri

सिंघाड़े में मौजूद पोषक तत्व-

सिंघाड़ा पोषक तत्वों से भरपूर होता है जिसमें विटामिन-ए, सी, मैंगनीज, थायमाइन, कर्बोहाईड्रेट, टैनिन, सिट्रिक एसिड, रीबोफ्लेविन, एमिलोज, फास्फोराइलेज, एमिलोपैक्तीं, बीटा-एमिलेज, प्रोटीन, फैट और निकोटेनिक एसिड जैसे पोषक तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं। सिंघाड़ा के फल को सुखाकर उसका आटा बनाया जाता है। यह आटा सिर्फ स्वाद ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। तो आइए जानते हैं इस आटा को खाने से सेहत को कौन-कौन से फायदे हो सकते हैं।

सिंघाड़े के आटे के फायदे

बॉडी को हाइड्रेट रखता है-

सिंघाड़े के आटे में पोटेशियम अधिक मात्रा में पाया जाता है और सोडियम की सामग्री कम पाई जाती है। जो शरीर में पानी को एब्जॉर्ब करने में मदद करता है।

बॉडी को एनर्जी देता है-

नवरात्रि के उपवास के दौरान बॉडी में कमजोरी हो जाती है तो इस आटे की रोटी बॉडी को एनर्जेटिक रखती है। सिंघाड़े के आटे में कार्बोहाइड्रेट और एनर्जी को बूस्ट करने वाले तत्व मौजूद होते जो सेहत के लिए उपयोगी होते हैं। इसमें पोषक तत्वों के आलावा आयरन, कैल्शियम, जिंक और फॉस्फोरस जैसे तत्व भी मौजूद होते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट और मिनरल्स से भरपूर है-

सिंघाड़े के आटे में एंटीऑक्सिडेंट और मिनरल्स की मात्रा पाई जाती है। इसके आटे में विटामिन बी 6, पोटैशियम, कॉपर, राइबोफ्लेविन, आयोडीन और मैग्नीज भरपूर मात्रा में होता है जो सेहत के लिए उपयोगी होता है।

वज़न को कंट्रोल करता है-

फाइबर के गुणों से भरपूर सिंघाड़ा के आटे से पेट लम्बे समय तक भरा रहता है और आप ओवर इटिंग से बचते हैं। इसे खाने के बाद आपको लम्बे समय तक भूख नहीं लगती और वज़न कंट्रोल रहता है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *