UP- इन जिलों में आज से लगेगा नाइट कर्फ्यू, सब कुछ रहेगा बंद, सिर्फ इन्हें मिलेगी छूट

लखनऊ, वाराणसी और कानपुर में आठ अप्रैल से नाइट कर्फ्यू, स्कूल व कॉलेज बंद

लखनऊ॥ कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सीएम योगी के निर्देश के बाद राजधानी लखनऊ, वाराणसी और कानपुर नगर में आठ अप्रैल से नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। तीनों नगरों में स्कूल और कॉलेज भी बंद कर दिए गए हैं।

Night curfew

दरअसल सीएम योगी ने बुधवार रात वीडियों कांफेंसिंग के जरिए 500 से अधिक कोरोना संक्रमित वाले जिलों के जिलाधिकारियों को नाइट कर्फ्यू पर फैसला लेने के लिए अधिकृत कर दिया था।

सीएम के इस निर्देश के बाद सबसे पहले राजधानी लखनऊ में फिर कानपुर नगर और उसके बाद वाराणसी के जिलाधिकारी ने गुरुवार रात से नाइट कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी। नाइट कर्फ्यू के दौरान तीनों नगरों में केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को ही छूट होगी। लखनऊ में फिलहाल केवल नगर निगम क्षेत्र में इसे लागू किया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में नाइट कर्फ्यू लागू नहीं होगा।

लखनऊ में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू

लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश के अनुसार नगर क्षेत्र में आठ अप्रैल से रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू लागू रहेगा। अभी उन्होंने यह आदेश 16 अप्रैल की सुबह छह बजे तक के लिए जारी किया है। उन्होंने बताया कि कर्फ्यू के दौरान आवश्यक वस्तु को लाने और ले जाने की छूट होगी।

फल, सब्जी, दूध, एलपीजी, पेट्रोल-डीजल और दवा की सप्लाई जारी रहेगी। रात्रि कालीन शिफ्ट के सरकारी, अर्ध सरकारी कार्मिक एवम् आवश्यक वस्तुओं व सेवाओं और निजी क्षेत्र के कर्मचारियों को छूट होगी। रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट पर आने जाने वाले लोग अपना टिकट दिखा कर आ जा सकेंगे। हर प्रकार की मालवाहक गाड़ियों के आने-जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। जिलाधिकारी के अनुसार दिन में सुबह छह बजे से रात नौ बजे तक कोविड प्रोटोकाल के साथ सभी कार्य जारी रहेंगे। हालांकि स्कूल और कालेज बंद रहेंगे।

वाराणसी में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू

वाराणसी में आठ अप्रैल से एक सप्ताह के लिए नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। यह रात नौ बजे से शुरु होगा और सुबह तक जारी रहेगा। सुबह खत्म होने का समय गुरुवार को निश्चित होगा। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि सुबह का समय अधिकारियों के साथ बैठक कर तय किया जाएगा।

Night Curfew

उन्होंने बताया कि नाइट कर्फ्यू के दौरान रात्रि शिफ्ट के कर्मचारियों व मालवाहक गाड़ियों के आवागमन हेतु रियायत रहेगी। दूध, सब्जी मंडी, दवा की दुकानों के लिए छूट रहेगी। दिन में चिकित्सा, नर्सिंग एवं पैरा मेडिकल संस्थानों को छोड़कर सभी सरकारी, गैर सरकारी, निजी विद्यालय, महाविद्यालय, शैक्षणिक संस्थान और कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे। परीक्षा और प्रैक्टिकल परीक्षा की स्थिति में विद्यालय या महाविद्यालय खोलने की छूट होगी।

कानपुर नगर में रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू

कानपुर नगर के जिलाधिकारी आलोक तिवारी के अनुसार वहां गुरुवार रात 10 बजे से सुबह छह बजे तक नाइट कर्फ्यू लगेगा। कानपुर में नाइट कर्फ्यू 30 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा। इस दौरान किसी भी व्यक्ति, वाहन आदि का आवागमन निषिद्ध रहेगा। केवल आवश्यक सेवाओं और वस्तुओं के परिवहन को रियायत मिलेगी। जिलाधिकारी ने कक्षा 12 तक के सभी शिक्षण संस्थानों को भी बंद करने का आदेश दिया है। हालांकि जहां परीक्षाएं अथवा प्रेक्टिल परीक्षाएं चल रही हैं उन्हें नहीं रोका गया है।

सीएम ने दिए सख्ती के निर्देश

सीएम योगी ने बुधवार रात वीडियो कांफेंसिंग के जरिए उन जिलाधिकारियों को सख्ती बरतने का निर्देश दिया जहां प्रतिदिन 100 से अधिक कोरोना संक्रमण के मामले आ रहे हैं अथवा कुल संक्रमितों की संख्या 500 से अधिक हो गई है। सीएम ने ऐसे जिलों में रात्रि में आवागमन नियंत्रित रखने के संबंध में जिलाधिकारियों को समुचित फैसला लेने का निर्देश दिया। सीएम ने 13 जिलों लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी, कानपुर नगर, गोरखपुर, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, झांसी, बरेली, गाजियाबाद, आगरा, सहारनपुर तथा मुरादाबाद के जिलाधिकारियों को विशेष सतर्क रहने को कहा। उन्होंने यह भी कहा कि वह स्वयं प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर जिलों का औचक निरीक्षण करेंगे।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी दिया था निर्देश

प्रदेश में निरंतर बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने भी एक दिन पहले राज्य सरकार को निर्देशित किया था कि देर शाम समारोहों में भीड़ को नियंत्रित करने के साथ ही सरकार रात्रि कर्फ्यू लगाने पर भी विचार करे। यह निर्देश मुख्य न्यायाधीश गोविंद माथुर तथा न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा की खंडपीठ ने कोरोना संक्रमण मामले की जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए दिया था। अदालत ने सभी नागरिकों का वैक्सीनेशन करने और घर-घर जाकर टीके लगाने पर भी सरकार को विचार करने को कहा था।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर निरंतर बढ़ता ही जा रहा है। बुधवार को प्रदेश में 24 घंटे के अंदर कोरोना के 6023 नए मामले मिले। वहीं 40 मरीजों की मौत भी हो गई। सबसे अधिक 1333 संक्रमित राजधानी लखनऊ में पाए गए। वहीं प्रयागराज में 811, वाराणसी में 593, कानपुर नगर में 300, झांसी में 188 और गोरखपुर में 159 नए संक्रमित मरीज मिले।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *