निकिता मर्डर केस : लड़की को मुस्लिम बनाना चाहता था तौसिफ, कोर्ट ने दोनों आरोपियों को पुलिस रिमांड में भेजा

वारदात के बाद आरोपी कार में बैठकर फरार हो गए। यह पूरी घटना वहां लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपी तौसिफ और रेहान को गिरफ्तार कर लिया है।

Hariyana के फरीदाबाद जिले के बल्लभगढ़ शहर में कॉलेज से पेपर देकर घर लौट रही छात्रा निकिता तोमर की मुस्लिम समुदाय के एक युवक तौसिफ और उसके दोस्त रेहान द्वारा सोमवार शाम दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को दो दिन की पुलिस रिमांड में भेज दिया है।

nikita murder

निकिता मर्डर केस को लेकर बवाल बढ़ा

जानकारी के अनुसार, घटना अग्रवाल कॉलेज के सामने की सड़क पर हुई जब परीक्षा देने के बाद बाहर निकली बीकॉम फाइनल ईयर की छात्रा निकिता का तौसिफ ने पिस्तौल की नोंक पर अपहरण करने और कार में बिठाने का प्रयास किया, लेकिन निकिता के विरोध करने पर आरोपी जब अपने मंसूबों को अंजाम देने में विफल रहा तो उसने छात्रा को गोली मार दी जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस दौरान आरोपी का दूसरा साथी कार में बैठा हुआ था। निकिता को उसकी साथी ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन वह इसमें नाकाम रही।

वारदात के बाद आरोपी कार में बैठकर फरार हो गए। यह पूरी घटना वहां लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। पुलिस ने इस मामले में दोनों आरोपी तौसिफ और रेहान को गिरफ्तार कर लिया है।

निकिता से शादी करने का बना रहा था दबाव

उधर, परिजनों का कहना है कि आरोपी ने वर्ष 2018 में भी निकिता के अपहरण का प्रयास किया था। वह उसे मुस्लिम बनाकर उससे शादी करने का दबाव बना रहा था। उस वक्त पुलिस में आरोपी की शिकायत की गई थी, लेकिन उस समय पुलिस के कथित दबाव और आरोपी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर उन्होंने लोकलाज के चलते समझौता कर लिया था। उन्होंने कहा कि पुलिस की इस ढिलाई की कीमत निकिता को अपनी जान देकर चुकानी पड़ी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *