अब इस देश में शुरू हुआ कोरोना का कहर, 21 दिन का सख्त लॉकडाउन लगाया गया

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू ने देश में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए तीन सप्‍ताह तक के लिए लॉकडॉउन का ऐलान किया है

कोरोना का कहर दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहा है,ऐसे में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्‍याहू ने देश में कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए तीन सप्‍ताह तक के लिए लॉकडॉउन का ऐलान किया है। इस दौरान संक्रमण को रोकने के लिए स्‍कूल और दुकानों को बंद रखा जाएगा।

corona hariyana

आपको बता दें कि शुक्रवार से शुरू होने जा रहे इस कोरेाना लॉकडाउन के दौरान इजरायली लोगों के आने-जाने पर प्रतिबंध रहेगा।वहीँ नेतन्‍याहू ने कहा, ‘हमारा लक्ष्‍य कोरोना वायरस को रोकना और संक्रमण की संख्‍या को कम रखना। मैं जानता हूं कि इन कदमों की हम सभी को बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। यह छुट्टियां नहीं है जिसके आमतौर पर आदी हैं।’

सरकार के फैसले का विरोध

इजरायल में कोरोना वायरस फैलने के बाद यह दूसरी बार है जब लॉकडाउन लगाया गया है। लॉकडाउन की वजह से कोरोना संक्रमण की दर भले ही कम हो जाती है लेकिन देश की अर्थव्‍यवस्‍था और रोजगार पर इसके गंभीर असर पड़ते हैं। उधर, देश में लॉकडाउन लगाने का विरोध भी शुरू हो गया है। इजराइल के एक प्रमुख मंत्री ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के कारण यहूदी नववर्ष के पहले इस सप्ताह राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन लगाये जाने संबंधी सरकार के फैसले के विरोधस्वरूप रविवार को इस्तीफा दे दिया।

इजराइल में महामारी की शुरूआत के दौरान स्वास्थ्य मंत्री रहे और अब आवास मंत्री याकोव लित्जमैन ने अपेक्षित लॉकडाउन उपाय की अत्यधिक आलोचना की और कहा कि इससे लोगों को बहुत परेशानी होगी। उन्होंने कहा, ‘मेरा दिल उन हज़ारों यहूदियों के साथ है जो साल में एक बार उपासनागृह पर आते हैं और लॉकडाउन के कारण इस बार ऐसा नहीं हो सकेगा।’ देश में प्रतिदिन कोरोना वायरस के रिकॉर्ड नये मामले सामने आ रहे हैं। इजराइल में इस महामारी के अब तक 1,50,000 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं और 1,100 से अधिक लोगों की मौत हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *