अब बगैर इंटरनेट के कर सकेंगे रुपए ट्रांसफर, RBI शुरू करने जा रही ये सेवा

ऑफलाइन डिजिटल भुगतान का उद्देश्य ऐसे लेनदेन से है, जिसमें इंटरनेट या मोबाइल नेटवर्क की आवश्यकता नहीं होती

गांवों व अन्य स्थानों पर डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए, आरबीआई ने सोमवार को ऑफलाइन डिजिटल भुगतान के लिए एक रूपरेखा जारी की। फिलहाल ऑफलाइन भुगात के अंतर्गत 200 रुपये तक के लेनदेन की अनुमति है। ऑफलाइन (बिना इंटरनेट) लेनदेन करने की लिमिट अधिकतम 10 ट्रांजैक्शन यानी कुल दो हजार रुपए तक होगी।

ऑफलाइन डिजिटल भुगतान का उद्देश्य ऐसे लेनदेन से है, जिसमें इंटरनेट या मोबाइल नेटवर्क की आवश्यकता नहीं होती। ऑफलाइन तरीके में पेनेंट आमने-सामने कार्ड, वॉलेट व मोबाइल समेत किसी भी माध्यम से किया जा सकता है।

जानें क्यों शुरू की जा रही ये सेवा

आरबीआई ने कहा कि देश के कई इलाकों में सितंबर 2020 से जून 2021 के दौरान पायलट आधार पर ऑफलाइन भुगतान शुरू किया गया था। इसपर मिली प्रतिक्रिया के आधार पर यह योजना तैयार की गयी है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि बिना इंटरनेट पेमेंट से कमजोर इंटरनेट कनेक्टिविटी वाले स्थानों में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा मिलेगा। खासतौर से गांवों व कस्बों में। ये सेवा तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close