OMG! बेटे-बहु के संतान न पैदा करने से नाराज बुजुर्ग माता-पिता ने ठोंका केस, वापस मांगा परवरिश में खर्च किया हुआ पैसा

हमारे समाज में खून के रिश्तों के बीच संपत्ति के बंटवारे को लेकर अक्सर वाद विवाद होता रहा हैं लेकिन हाल ही में हरिद्वार में एक...

हरिद्वार। हमारे समाज में खून के रिश्तों के बीच संपत्ति के बंटवारे को लेकर अक्सर वाद विवाद होता रहा हैं लेकिन हाल ही में हरिद्वार में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। इसमें पोता-पोती का सुख न देने पर एक वृद्ध माता-पिता ने अपने ही बेटे और बहू पर मुकदमा दायर कर दिया हैं। हरिद्वार की तृतीय एसीजे एसडी कोर्ट में दायर किए गए एक वाद में याचिकाकर्ता ने बेटे के लालन-पालन और उसकी शिक्षा में खर्च हुए लगभग 5 करोड़ रुपये वापस मांगे हैं।

elderly parents

बुजुर्ग दंपति के वकील अरविंद कुमार श्रीवास्तव ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि संजीव रंजन प्रसाद बीएचईएल में अधिकारी पद पर कार्यरत थे। रिटायरमेंट के बाद से वे अपनी पत्नी साधना प्रसाद के साथ एक हाउसिंग सोसाइटी में रह रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस बजुर्ग दंपति ने अपने इकलौते बेटे श्रेय सागर की शादी साल 2016 में नोएडा की रहने वाली शुभांगी सिन्हा से की थी। श्रेय सागर पेशे से पायलट हैं।

वहीं उसकी पत्नी शुभांगी भी नोएडा में ही रहकर जॉब करती हैं। अब बुजुर्ग दंपत्ति ने अदालत में प्रार्थना पत्र देकर बताया है कि शादी के 6 साल बाद भी उनका बेटा और बहू संतान पैदा नहीं कर रहे हैं, जिससे उन्हें काफी मानसिक पीड़ा हो रही हैं। बेटे बहु के इस फैसले से नाराज हरिद्वार के इस दंपति ने अपने बेटे की परवरिश में खर्च हुए अपने लगभग 5 करोड़ रुपये वापस दिलाने की मांग की हैं।

बुजुर्ग दंपति का कहना है कि बेटे को इतना काबिल बनाने के बाद भी अगर उन्हें बुढ़ापे में अकेले जीवन गुजारना पड़ रहा है तो ये किसी प्रताड़ना से कम नहीं हैं। फ़िलहाल बुजुर्ग दंपति के प्रार्थना पत्र पर अदालत में बेटे बहु के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और अगली सुनवाई के लिए 17 मई की तारीख तय की गई है।