दहशत: कोरोना के खौफ में पहले काटी हाथ की नस, फिर तीसरी मंजिल से लगा दी छलांग

ग्वालियर, 10 अगस्त। कोरोना का खौफ लोगों के दिलों में इस कदर बैठ गया है कि वह चाहकर भी अपनों से नहीं मिल रहे हैं। वहीं इसी बीच ग्वालियर से एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जहां संक्रमित युवक ने इसकी दहशत में आकर पहले हाथ की नस काटी और फिर अस्पताल की तीसरी मंजिल से छलांग लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की। नीचे टीनशेड होने से युवक की जान बच गई। युवक की कूदने की सूचना पर पूरे अस्पताल परिसर में हड़कंप मच गया था।

panic corona

जानकारी के अनुसार तारागंज निवासी 40 वर्षीय धर्मेंद्र राजपूत आठ अगस्त को कोरोना संक्रमित पाए गए थे, जिन्हें इलाज के लिए सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया था। बताया गया कि धर्मेन्द्र किडनी का मरीज है और किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था। धर्मेन्द्र की मां ने उसे किडनी दी है। आठ अगस्त को जब धर्मेन्द्र अस्पताल में भर्ती हुए तब से ही वह अवसाद में चल रहे थे।

सोमवार को दोपहर लगभग दो बजे के करीब वह पहले शौचालय गया और वहां से लौटते वक्त हाथ की नस काट ली। देखते ही देखते वह खिड़की से नीचे कूद गया। तीसरी मंजिल से जैसे ही धर्मेन्द्र ने छलांग लगाई तो वह सीधे एसी के कंप्रेसर सेट रखने के लिए बनी टीनशेड पर जा गिरा।

धर्मेन्द्र को गिरता देख वहां मौजूद सुरक्षा कर्मी बृजमोहन बाथम ने देखा तो वह उसकी जान बचाने के लिए टीन शेड पर चढ़ गया। इसी बीच अधीक्षक डॉ. गिरिजाशंकर गुप्ता, यूडीएस के प्रबंधक अरविंद सिंह राठौर सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे व मरीज को इलाज के लिए सीधे ऑपरेशन थियेटर में ले गए। जहां धर्मेन्द्र का इलाज कर उसकी मल्लहम पट्टी की गई। चिकित्सकों ने बताया कि उसके हाथ में फ्रैक्चर हुआ है और वह खतरे से बाहर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close