Breaking News

दिल्ली पुलिस के निशाने पर ‘पिजड़ा तोड़’ संस्था, नताशा और देवांगना गिरफ्तार

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जेएनयू की छात्राओं नताशा और देवांगना को फरवरी में हुए उत्तर-पूर्वी दिल्ली दंगों में हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार कर लिया है। नताशा सेंटर फॉर हिस्टोरिकल स्टडीज की और देवांगना सेंटर फॉर वूमेन स्टडीज में छात्रा हैं। ये दोनो ‘पिजड़ा तोड़’ संस्था की सक्रिय सदस्य हैं। इससे पहले दिल्ली पुलिस गर्भवती सफूरा ज़रगर, मीरान हैदर और शिफा उर रहमान को सीएए के खि़लाफ़ प्रदर्शन में शामिल होने और दिल्ली दंगा भड़काने के लिए यूएपीए के तहत गिरफ्तार कर चुकी है।

pinjdaa tod

दिल्ली पुलिस के मुताबिक़ पिंजरा तोड़ संगठन की इन लड़कियों ने 22 फरवरी को जाफ़राबाद मेट्रो स्टेशन के पास सीएए के खि़लाफ़ प्रदर्शन के लिए बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों को एकत्र किया था। पिंजरा तोड़ संगठन सीएए विरोध को बढ़ाने में भी सहयोग दे रहा था। कहा जा रहा है कि सीलमपुर, जाफ़राबाद और ट्रांस-यमुना के नागरिकों ने पिंजरा तोड़ संगठन के लोगों पर दंगा भड़काने का आरोप लगाया है।

अब दूसरे राज्यों में यूपी के श्रमिकों की नहीं होगी दुर्गति, सीएम योगी ने उठाया ये कदम

पिंजरा तोड़ छात्राओं का वह संस्था है जो लड़कियों और महिलाओं को वर्जनाओं से मुक्ति दिलाने कि मुहिम चला रही है। संस्था की सदस्य ये जताने के लिए रात की अंधेरी सुनसान सड़कों पर निकलती हैं कि इस आज़ादी पर जितना हक़ किसी पुरुष का है, उतना ही महिलाओं का भी है। ये हास्टल की सुविधाओं के लिए, चार दीवारी और घूंघट की बेबसी से और शिक्षा व बराबरी की नौकरी के लिए लड़ती हैं।

अब दूसरे राज्यों में यूपी के श्रमिकों की नहीं होगी दुर्गति, सीएम योगी ने उठाया ये कदम

उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशन सेल सीएए के विरोध में शामिल होने वाले लोगों को नोटिस भेज रही है। स्पेशन सेल ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुए दंगों की जांच के तहत पिंजरा तोड़ समेत जामिया समन्वय समिति के 50 सदस्यों, कांग्रेस के छात्र संघ के पूर्व पदाधिकारियों और राष्ट्रीय छात्र संगठन को नोटिस भेजा था। इसी के तहत पिंजरा तोड़ की नताशा और दिव्यांगना की गिरफ्तारी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com