Pm Modi In Up: प्रदेश को दी 75 सौगातें, इतने हजार लोगों सौंपे आवास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Modi In Up) ने आज यानी मंगलवार को लखनऊ में न्यू अर्बन इंडिया थीम पर आयोजित तीन दिवसीय कॉन्क्लेव के अवसर पर...

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Pm Modi In Up) ने आज यानी मंगलवार को लखनऊ में न्यू अर्बन इंडिया थीम पर आयोजित तीन दिवसीय कॉन्क्लेव के अवसर पर ‘प्रधानमंत्री आवास शहरी योजना’ के अंतर्गत 75000 लाभार्थियों को डिजिटल माध्यम से आवास सौंपे। पीएम नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कॉन्क्लेव कार्यक्रम की शुरुआत की। इस मौके पर उनके साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी भी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

Pm Modi In Up - lucknow

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी (Pm Modi In Up) ने कॉन्क्लेव-सह-एक्सपो में लगाई गई आधुनिक आवासीय तकनीकों पर आधारित प्रदर्शनी का भी निरीक्षण किया। इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में यह कार्यक्रम केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय उत्तर प्रदेश के नगर विकास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया गया है।

Pm Modi In Up: स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 75 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास

इस खास मौके पर प्रधानमंत्री (Pm Modi In Up) ने स्मार्ट सिटी मिशन के तहत आगरा, सहारनपुर, अलीगढ़, बरेली, झांसी,सहारनपुर, कानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, मुरादाबाद व अयोध्या में इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर, इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेन्ट सिस्टम और नगरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर व अमृत मिशन के अंतर्गत प्रदेश के विभिन्न शहरों में उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा निर्मित पेयजल एवं सीवरेज की कुल 4,737 करोड़ रुपये की 75 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया।

मोदी (Pm Modi In Up) ने इस कार्यक्रम के दौरान प्रदेश के सभी जिलों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत चयन किये गए 75 हजार लाभार्थियों को चाबी वितरण कर उनसे बातचीत की। इसके साथ ही उन्होंने लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, झांसी, प्रयागराज, गाजियाबाद और वाराणसी के लिए 75 स्मार्ट इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी भी दिखाई।

Big News For Today: लखीमपुर हिंसा में मरे दो किसानों का अंतिम संस्कार रोका, परिजन कर रहे ये मांग, आईजी मौके पर पहुंची

कोरोना के बाद अब इस खतरनाक बीमारी से कराह रही दिल्ली, पीड़ितों की संख्या ने 3 साल का रिकॉर्ड तोड़ा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *