Political News : क्या जयंत चौधरी छपरौली से विधानसभा चुनाव लड़ेंगे !

आगामी विधानसभा चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि छपरौली से रालोद सुप्रीम जयंत चौधरी चुनावी मैदान में उतर सकते हैं।

बागपत :आगामी विधानसभा चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की कर्मभूमि छपरौली से रालोद सुप्रीम जयंत चौधरी चुनावी मैदान में उतर सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो चौधरी परिवार की विरासत कही जाने वाली छपरौली सीट से तीसरी पीढ़ी चुनावी मैदान में होगी। यहां से चुनाव लड़ने के लिए जयंत चौधरी पर वरिष्ठ नेता दबाव बना रहे हैं। अगर ऐसा हुआ तो आसपास की कई सीटों का गणित बदल सकता है। उधर, भाजपा की सर्वे रिपोर्ट भी हाईकमान को पहुंच गई है। इसमें दो सीटों की सकारात्मक तो एक सीट की नकारात्मक रिपोर्ट है।

 

बता दें कि स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह की राजनीतिक शुरुआत छपरौली से ही हुई थी। वे यहां से पहली बार वर्ष 1937 में चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे थे। उनके बाद बेटी सरोज वर्मा 1985 में और वर्ष 1991 में उनके बेटे स्वर्गीय चौधरी अजित सिंह भी छपरौली से जीतकर विधानसभा गए थे। छपरौली की विरासत को पिछले महीने ही खाप चौधरियों ने पिता अजित सिंह के निधन के बाद रालोद अध्यक्ष बने जयंत चौधरी को सौंपा है। अब वह परिवार की राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाने के लिए छपरौली से चुनावी मैदान में उतर सकते हैं।

इसका एक बड़ा कारण यह भी माना जा रहा है कि अगर जयंत चौधरी खुद चुनावी मैदान में उतरते हैं तो उससे बागपत, बड़ौत समेत आसपास की कई अन्य सीटें प्रभावित हो सकती है। रालोद जिलाध्यक्ष डॉ. जगपाल तेवतिया का कहना है कि इस पर अभी निर्णय नहीं हुआ है, लेकिन जयंत चौधरी के सामने पार्टी के वरिष्ठ नेता यह बात रख रहे हैं। उन पर छपरौली से चुनाव लड़ने का दबाव बनाया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *