वैक्सीन पर सियासत : कश्मीर से BJP के धुर विरोधी नेता उमर अब्दुल्ला ने केंद्र सरकार पर जताया भरोसा

हमारे देश में कुछ बेकार मुद्दे ऐसे होते हैं जो व्यर्थ ही सुर्खियों में छाए रहते हैं । ऐसी बातों को बढ़ावा देने के लिए नेता कम जिम्मेदार नहीं हैं ।

शंभू नाथ गौतम, वरिष्ठ पत्रकार

हमारे देश में कुछ बेकार मुद्दे ऐसे होते हैं जो व्यर्थ ही सुर्खियों में छाए रहते हैं । ऐसी बातों को बढ़ावा देने के लिए नेता कम जिम्मेदार नहीं हैं । आज हम चर्चा करेंगे कोरोना वैक्सीन की लॉन्चिंग की । बता दें कि कुछ दिनों से वैक्सीन को लेकर राजनीतिक दलों में सियासी जंग छिड़ गई है ।

समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने इस कोरोना टीके को भाजपा की चाल बताया, वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार के लिए राहत की बात रही कि जम्मू कश्मीर के धुर विरोधी नेता नेशनल कॉन्फ्रेंस के उमर अब्दुल्ला ने उनका समर्थन किया। अब बात को आगे बढ़ाते हैं ।

वैक्सीन आम लोगों को कभी भी लगाई जा सकती

corona vacine

 

शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने बताया कि अब वैक्सीन आम लोगों को कभी भी लगाई जा सकती है । ‘स्वास्थ्य मंत्री की घोषणा के बाद यह वैक्सीन तेजी के साथ सियासी गलियारे में घूमने लगी’। शनिवार शाम होते-होते इस पर ‘सियासी घमासान’ भी शुरू हो गया । सबसे पहले उत्तर प्रदेश समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस पर तंज कसते हुए साफ कहा कि मैं मोदी सरकार की वैक्सीन नहीं लगाऊंगा, सपा अध्यक्ष ने कहा कि यह कोरोना महामारी भाजपा की विपक्षी नेताओं को फंसाने की चाल है ।

अखिलेश के इस बयान के बाद हालांकि भाजपा के कई नेताओं उत्तर प्रदेश के दोनों उप मुख्यमंत्रियों केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शर्मा और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के साथ केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इसे गैर जिम्मेदार बताते हुए सपा अध्यक्ष पर निशाना साधा । इसके बाद दिल्ली बीजेपी के नेता ‘कपिल मिश्रा ने कहा कि अखिलेश यादव को जो बीमारी हैं, उसका न कोई टीका बना है न बनेगा, कपिल ने कहा कि अखिलेश को मुस्लिम तुष्टिकरण की खतरनाक बीमारी है ।

जब बीजेपी ने अखिलेश यादव को चारों तरफ से घेरा तो सपा अध्यक्ष ने कहा कि उन्हें वैज्ञानिकों की दक्षता पर पूरा भरोसा है, लेकिन बीजेपी की ताली-थाली वाली अवैज्ञानिक सोच पर बिल्कुल विश्वास नहीं है। बता दें कि अखिलेश के बयान के बाद ‘समाजवादी पार्टी के ही एक विधान परिषद सदस्य आशुतोष सिन्हा ने अखिलेश से दो कदम आगे बढ़ते हुए कहां की कोरोना वैक्सीन लोगों को नंपुसक बना देगी’ । यूपी की सियासत से निकलकर यह वैक्सीन कश्मीर तक पहुंच गई । ‘बता दें कि ‘नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने वैक्सीन को देशहित में बताया ।

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, मैं तो खुशी से वैक्सीन लगवाऊंगा

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा कि उन्हें या व्यक्ति लगाने में कोई परहेज नहीं है बल्कि वे इसे खुशी-खुशी से लगाएंगे । उन्होंने कहा कि यह वैक्सीन पूरे देशवासियों को लगाना चाहिए । उमर ने कहा कि जितने लोग वैक्सीनेशन करवाएंगे, देश और अर्थव्यवस्था के लिए उतना अच्छा है, वैक्सीन किसी राजनीतिक पार्टी की नहीं है, ये मानवता के लिए है और जितनी जल्दी ये अतिसंवेदनशील लोगों तक पहुंचेगी, उतना बेहतर है।

वहीं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बयान पर उमर ने कहा, ‘मैं औरों के बारे में नहीं जानता । लेकिन जब मेरी बारी आएगी तो मैं अपनी बांह उठाकर खुशी-खुशी कोरोना वैक्सीन लगवा लूंगा । जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा इस वायरस ने देश और दुनिया में अब तक काफी तबाही मचाई है, ऐसे में अगर किसी वैक्सीन से हालात सामान्य होते हैं तो इसकी सराहना करनी चाहिए । यहां हम आपको बता दें कि उमर अब्दुल्ला की ये प्रतिक्रिया अखिलेश के उस बयान के बाद आई है, जिसमें उन्होंने कहा कि उन्हें बीजेपी की वैक्सीन पर भरोसा नहीं है।

कांग्रेस ने कहा, भाजपा सरकार वैक्सीन को विपक्ष के खिलाफ इस्तेमाल करेगी

कोरोना वैक्सीन पर कांग्रेस पार्टी दो कदम आगे निकल गई । उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कोरोना वैक्सीन पर दिए बयान का कांग्रेस पार्टी ने समर्थन किया है । कांग्रेस नेता राशिद अल्वी का कहना है है कि अखिलेश के बयान को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता, वैक्सीन का विपक्ष के खिलाफ इस्तेमाल हो सकता है।

रविवार को कांग्रेस नेता राशिद अल्वी ने कहा ‘जिस तरीके से केंद्र सरकार सीबीआई, आईबी, ईडी, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट का इस्तेमाल विपक्ष के खिलाफ कर रही है, उन्होंने कहा कि वैक्सीन तो एक ऐसी चीज है जिसका आम आदमी के साथ निश्चित तौर से इसका इस्तेमाल नहीं होगा, लेकिन विपक्ष के नेताओं को डर तो लगेगा । राशिद अल्वी ने कहा कि ऐसे हाथों में सरकार है, जो देश के विपक्ष को या तो जेल में देखना या उनकी राजनीति खत्म करना चाहती है। कांग्रेस नेता अल्वी ने कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव के बयान को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है ।

हालांकि अभी इस वैक्सीन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है । अब बात करते हैं भाजपा की, केंद्र सरकार भी इस टीके पर पिछले काफी दिनों से अपना श्रेय लेने में लगी है । बिहार विधानसभा चुनाव में भाजपा ने वैक्सीन मुफ्त लगाने के लिए चुनावी मुद्दा भी बनाया था । केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन वैक्सीन की लॉन्चिंग को लेकर आए दिन अपडेट बताने में लगे हुए थे, आखिरकार भाजपा सरकार के लिए वह दिन आ गया जब स्वास्थ्य मंत्री ने डंके की चोट पर कहा कि अब भारतीयों के लिए वैक्सीन तैयार है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *