बिजली की कमी चीन पर पड़ा भारी, हो गया इतना ज्यादा नुकसान

ड्रैगन ने कोविड-19 महामारी के पश्चात अपनी इकोनॉमी को पटरी पर ला दिया था, मगर अब फिर से खतरा नजर आ रहा है

बत्ती गुल और रियल एस्टेट में मंदी चीन के लिए भारी पड़ी है। बीते सितंबर 2021 में समाप्त हर तीन महीने में चीन के GDP ग्रोथ की रफ्तार 4.9 फीसद पर आ गई है।

China President Xi Jinping

ड्रैगन के राष्ट्रीय सांख्यिकी ब्यूरो ने 18 अक्टूबर को जुलाई से सितंबर की प्रति तीन महीने के आंकड़े जारी किए। पड़ोसी देश में जनवरी से ही वित्त वर्ष की शुरुआत मानी जाती है, इसलिए ये उसके लिए तीसरी तिमाही है।

क्या है कमी का कारण

समाचार एजेंसी के अनुसार बिजली की शॉर्टेज और आपूर्ति में परेशानी की वजह से कारखानों को बहुत नुकसान हुआ है। कोरोना महामारी की वजह से खपत वैसे ही कम है।

इस साल अप्रैल से जून की तिमाही में चीन की GDP में 7.9 फीसदी की अच्छी ग्रोथ हुई थी। इसके पहले बीते वर्ष की तीसरी तिमाही में भी GDP ग्रोथ 4.9 प्रतिशत थी। किंतु तब कोरोना संकट हावी था। इस साल की पहली तिमाही यानी जनवरी से मार्च में चीन की GDP में 18.3 फीसदी की शानदार बढ़त हुई थी।

परेशानी में चीन

ड्रैगन ने कोविड-19 महामारी के पश्चात अपनी इकोनॉमी को पटरी पर ला दिया था, मगर अब फिर से खतरा नजर आ रहा है। प्रॉपर्टी सेक्टर में मंदी, बिजली की कमी की वजह से कारखानों का उत्पादन ठप पड़ना आदि की वजह से अर्थव्यवस्था सुस्त हो गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *