प्रकाश जावड़ेकर ने कहा- पानी को बचाना हमारी प्राथमिकता है, हर व्यक्ति को॰॰॰

जलवायु परिवर्तन मंत्री ने बताया कि हर राज्य में वन कैंपस के लिए सर्वे किया जा रहा है।

नई दिल्ली॥ केन्द्रीय वन, पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने शुक्रवार को टेरी द्वारा आयोजित विश्व सतत विकास शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए जल को बचाने की दिशा में किए जा रहे कार्यों पर विशेष तौर पर बल दिया।

Prakash Javadekar

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि आजादी के वक्त भारत देश में पानी की उपलब्धता हर व्यक्ति 5,000 लीटर थी, जो अब 1,100 लीटर प्रति व्यक्ति हो गई है।

उन्होंने कहा कि देश में करीब 85 फीसदी पानी की खपत कृषि क्षेत्र में है। इस क्षेत्र में पानी की खपत को कम करने के लिए ड्रिपिंग, कम पानी वाले खेती को बढ़ावा देने के साथ नई तकनीक पर जोर दिया जा रहा है।

जलवायु परिवर्तन मंत्री ने बताया कि हर राज्य में वन कैंपस के लिए सर्वे किया जा रहा है। इसके लिए कैंपा फंड से राज्यों को 40,000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता दी जा रही है। जल संरक्षण और इसकी सुरक्षा की दिशा में केन्द्र सरकार काफी सारे कारगर कदम उठा रही है। साथ ही कम पानी वाले खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *