शाहजहांपुर में अब प्रार्थना सभाओं पर पुलिस का होगा कड़ा पहरा

जांच में पाया गया कि हिरासत में लिए गए आरोपियों में से तीन हिंदू हैं तथा दो ईसाई। ऐसे में हिंदू -हिंदू का धर्म परिवर्तन कैसे कर सकता है?

शाहजहांपुर॥ उत्तर प्रदेश के शहजहांपुर जिले में धर्मांतरण के तीन मामले दर्ज होने के बाद जिले के सभी पुलिस थानों को अपने इलाके में हो रहीं प्रार्थना सभाओं पर अप पुलिस का पहरा रहेगा कोई धर्मांतरण का मामला पाया गया तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

police

पुलिस अधीक्षक एस आनंद ने मंगलवार को बताया कि जिले के थानों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अपने क्षेत्र में हो रही प्रार्थना सभा की पूरी जानकारी रखें तथा जब पूरी तरह आश्वस्त हो जाएं कि प्रार्थना की आड़ में लोगों का धर्मांतरण कराया जा रहा है, तब कड़ी कार्रवाई करें । और उनकी जेल भेजे ।

आनंद ने बताया कि विश्व हिंदू परिषद के जिला मंत्री राजेश अवस्थी ने अपने कार्यकर्ताओं के साथ रविवार को शहर कोतवाली अंतर्गत आवास विकास कालोनी में एक किराए के मकान में चल रही प्रार्थना सभा में शिरकत कर रहे पांच लोगों को बरेली मोड़ चौकी प्रभारी जितेंद्र सिंह को सौंपा था, जिसके बाद पुलिस ने इन्हें हिरासत में ले लिया था। जांच में पाया गया कि हिरासत में लिए गए आरोपियों में से तीन हिंदू हैं तथा दो ईसाई। ऐसे में हिंदू -हिंदू का धर्म परिवर्तन कैसे कर सकता है?

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले की विवेचना की जा रही है। आरोपियों में डेविड, जगन (कन्याकुमारी), अजय कुमार, रजत कुमार तथा शिरीष गुप्ता शाहजहांपुर निवासी को निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया है।आरोपियों को निर्देश दिये गये हैं कि वे विवेचना के दौरान जांच में पुलिस का सहयोग करेंगे।

जिले में जबरन धर्मातंरण का पहला मामला कोतवाली पुलिस ने उन्नीस दिसंबर को दर्ज किया था, जिसमें मोहम्मद सैयद पर शादी के लिये एक हिंदू महिला का जबरन धर्मांतरण कराने का आरोप था।

इस तरह का दूसरा मामला 20 दिसंबर को कटरा पुलिस थाने में दर्ज किया गया था तथा तीसरा मामला कोतवाली में रविवार को दर्ज किया गया है । पुलिस अधीक्षक के आदेश के बाद जिले में धर्मांतरण करने वाले लोगों में खलबली मची हुई है और ऐसे लोगों को थाना स्तर पर चिन्हित करने का काम शुरू कर दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *