उत्तराखंड में प्री-मानसून बारिश ने मचाई तबाही, जानें कितना नुकसान हुआ

दून मालदेवता सहित चारधाम मार्गों पर बोल्डर और मलबा आने से यातायात बाधित हआ है।

देहरादून॥ देहरादून समेत प्रदेश भर में देर रात से हो रही प्री-मानसून (pre-monsoon) की मूसलाधार बारिश (Rain) ने जहां तापमान और उमस भरी गर्मी से राहत दी है तो वहीं दून मालदेवता सहित चारधाम मार्गों पर बोल्डर और मलबा आने से यातायात बाधित हआ है।

Pre-monsoon rains wreak havoc in Uttarakhand

मौसम विभाग की तरफ से प्रदेश में अगले चार दिन यानी 14 जून तक हल्की से भारी बारिश होने की संभावना को लेकर चेतावनी जारी की गई है। सरकार ने भी डीएम को राहत एवं बचाच कार्य और बंद मार्ग को तत्काल खोलने के निर्देश जारी कर दिए हैं।

आज तेज बारिश प्रदेश के लिए जगह-जगह मुसीबत बनकर आई। देहरादून के मालदेवता में भारी बारिश से सड़कों पर मलबा आने से सड़क बाधित हुई है। हालांकि किसी भी प्रकार की जनहानि अथवा पशु हानि की कोई सूचना नहीं है। स्थानीय प्रशासन सूचना पर जेसीबी मशीनों से सड़क खुलवाने का कार्य में लगा हुआ है।

मालदेवता में नदी के उफान पर आने के बाद लोगों को वहां जाने से रोका जा रहा है। सूचना पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी भी मालदेवता पहुंचे। इस दौरान गुस्साएं ग्रामीणों ने मंत्री को जमकर सुनाई। औरतों और युवाओं में व्यवस्था को लेकर आक्रोश देखा गया। इस मौके मंत्री ग्रामीणों की बातों को सुनते हुए प्रशासन पर राहत कार्यों में दूरी पर नाराजगी जताई। मौके पर नाराज मंत्री जोशी ने जेई को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है। मंत्री द्वारा ठेकेदार के विरूद्ध सख्त कार्रवाही करने के आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए।

इसी तरह कुमाऊं मंडल के चंपावत जिले में झमाझम बारिश से करीब एक दर्जन स्थानों पर मलबा आने पर यातायात प्रभावित हुआ है। पिथौरागढ़-तवाघाट सड़क कनालीछीना के समीप बंद हो गई, पिथौरागढ़-घाट सड़क चुपकोट में बारिश के बाद आए मलबे की वजह से बंद हो गई है।

घाट-दन्या-अलमोडा सड़क के मकडाऊ में बन्द होने के बाद हल्द्वानी के यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। इसी तरह गढ़वाल मंडल के उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पौड़ी आदि जिलों में बारिश के बाद मलबा आने से यातायात प्रभावित हुआ है। वहीं हरिद्वार और उधमसिंह नगर सहित मैदानी जनपदों में मौसम खराब है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *