राष्ट्रपति ने 18 महिला समेत, 47 शिक्षकों को दिया, ‘राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को 18 महिला और दो दिव्यांगों समेत कुल 47 उत्कृष्ट शिक्षकों को ‘राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार’ दिये है।

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार को 18 महिला और दो दिव्यांगों समेत कुल 47 उत्कृष्ट शिक्षकों को ‘राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार’ दिये है। बता दें कि कोविड-19 के कारण पहली बार शिक्षक दिवस के मौके पर शिक्षकों को वर्चुअल माध्यम से सम्मानित किया गया।
               
आपको बता दें कि राष्ट्रपति के हाथों सम्मानित होने वालों में दिल्ली के माउंट आबू स्कूल, रोहिणी की प्रिंसिपल ज्योति अरोड़ा और एमसीडी स्कूल, सराय पीपल थला-।। के शिक्षक सुरेन्द्र सिंह भी शामिल हैं।

पुरस्कार प्राप्त करने में 40 फीसदी महिलाएं…

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपने संबोधन में पुरस्कार विजेताओं को बधाई दी और स्कूली शिक्षा में गुणात्मक रूप से सुधार लाने के लिए शिक्षकों द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता जताई कि 47 शिक्षकों में से 18 यानि लगभग 40 प्रतिशत महिलाएं हैं।

डिजिटल प्रौद्योगिकी पढ़ाई का मुख्य माध्यम…

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के कारण देश और दुनिया में स्कूल और कॉलेज या तो बंद हैं या प्रभावित हैं। ऐसी स्थिति में डिजिटल प्रौद्योगिकी पढ़ाई का एक महत्वपूर्ण माध्यम है। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि आप में से हर कोई डिजिटल तकनीकों का उपयोग करने के लिए अपने कौशल को अपग्रेड और अपडेट करें जिससे आपके शिक्षण की प्रभावशीलता और अधिक बढ़े।

अभिभावकों से मांगा सहयोग

राष्ट्रपति ने ऑनलाइन शिक्षा को प्रभावी बनाने के लिए अभिभावकों से भी सहयोग की अपील करते हुए कहा कि वे बच्चों के साथ इस प्रक्रिया में सहयोगी बनें और उन्हें रुचि के साथ सीखने के लिए प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि हमें यह भी सुनिश्चित करना है कि डिजिटल माध्यम से पढ़ाई करने के साधन ग्रामीण, आदिवासी और दूरदराज के क्षेत्रों में भी हर वर्ग के बच्चों को प्राप्त हो सकें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *