पाकिस्तान में अल्पसंख्यों से अत्याचार को लेकर इस देश में हुए प्रदर्शन, सेना के खिलाफ नारे लगाए

पाकिस्तान आतंकवाद की वजह से दुनियाभर में बदनाम है, वहीँ अपने देश में अल्पसंख्कों की सुरक्षा को लेकर भी पकिस्तान पर हमेशा से ही सवाल खड़े होते रहे हैं. आपको बता दें कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में अल्पसंख्यक खासकर हिन्दुओं के खिलाफ हो रहे अत्याचर को लेकर द वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस ने जेनेवा में संयुक्त राष्ट्र ऑफिस के सामने प्रदर्शन किया।

गौरतलब है कि इस प्रदर्शन में सिंधियों के साथ पश्तून, कश्मीरी और बलूच के राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने भी हिस्सा लिया। वहीं उन्होंने इस दौरान सिंधी राजनीतिक कार्यकर्ताओं को गायब किए जाने पर चिंता जाहिर की और पाकिस्तानी सेना के खिलाफ नारे लगाए। इसके साथ ही कई लोग ने पाकिस्तान सरकार पर सवाल खड़ा हुआ है.

आपको बता दें कि वर्ल्ड सिंधी कांग्रेस के सदस्य हिदायत भुट्टो ने कहा- “जो हमारे अल्पसंख्यक हिन्दू लड़कियों का अपहरण कर रहे हैं, पाकिस्तानी सेना उन कट्टरपंथियों का समर्थन कर रही है। पिछले कुछ महीने के दौरान अल्पसंख्यकों के खिलाफ तेजी से अत्याचार बढ़ा है।” वहीं हाल के वर्षों में मुस्लिमों की तरफ से हिन्दू लड़कियों के अपहरण और जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कराने के कई मामलों ने पाकिस्तान में हिन्दू समुदाय को हिलाकर रख दिया और वे अपने धर्म और कल्चर को बचाए रखने के लिए इंसाफ की मांग की है।

निकाह से मिला शांति का पैगाम, ‘शादी के कार्ड’ ने जीत लिया हिंदू-मुस्लिम का दिल