कोरोना को हराने के लिए पंजाब सरकार ने उठाया बड़ा कदम, अब इस तरह होगी जांच

लुधियाना॥ पंजाब में अब बिना पर्ची के कोविड टेस्ट किया जाएगा। सरकार ने सरकारी अस्पतालों तथा फोन वैनों में मुफ़्त वाक इन टेस्टिंग को इजाजत दे दी है। निजी चिकित्सकों तथा अस्पतालों को 250 रुपये प्रति टेस्ट के खर्च पर ऐसी ही टेस्टिंग करने के निर्देश दिए हैं। जो शख्श अपना रिजल्ट तुरंत देखना चाहते हैं, वह रैपिड एंटीजन टेस्टिंग का चयन कर सकते हैं, जबकि आरटी-पीसीआर टेस्टिंग भी इसी तरह उपलब्ध होगी।

Government of Punjab

मुख्य सचिव विनी महाजन ने बताया कि सरकार निजी अस्पतालों तथा चिकित्सकों को टेस्टों के लिए प्रशिक्षण और किटें मुहैया करवाएगी। ये टेस्ट बिना कोई प्रश्न पूछे या बिना पर्ची के आधार कार्ड और मोबाइल नंबर के आधार पर करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि आरटी टेस्ट के नतीजे 30 मिनट में उपलब्ध होने से टेस्टिंग और उपचार में विस्तार होगा और बीमारी की शुरुआत में ही पहचान की जा सकेगी।

पटियाला, बठिंडा, अमृतसर, लुधियाना, जालंधर और मोहाली ज़िले के डिप्टी कमिश्नरों और सिविल सर्जनों के साथ कोरोना की स्थिति का जायजा लेते हुए मुख्य सचिव ने कहा कि जो लोग आरटी द्वारा पॉजिटिव पाए गए हैं या जिनमें लक्षण पाए गए हैं, लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई है, उनकी पुष्टि के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट द्वारा फिर से जांच की जा सकती है।

मुख्य सचिव ने डीसी को प्राईवेट हॉस्पिटलों तथा फार्मेसी, केमिस्ट की दुकानों पर 250 रुपए प्रति टेस्ट की मामूली कीमत पर आरटी टेस्टिंग करवाने के लिए भी कहा और इन टेस्ट के लिए सरकार की ओर से उचित प्रशिक्षण और किटें मुहैया करवाई जाएंगी। उन्होंने आगे कहा कि निजी अस्पतालों और केमिस्टों द्वारा एकत्रित किए गए टेस्ट के परिणामों तथा डेटा को अगली कार्रवाई के लिए सरकारी पोर्टल पर अपलोड किया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *