62 साल बाद सुलझा रेप और मर्डर का केस, 9 साल की बच्ची के साथ घटी थी घटना

अमेरिका में 9 साल की बच्ची से हुए दुष्कर्म और मर्डर के मामले को 62 साल बाद उन्नत डीएनए तकनीक से सुलझा लिया गया है। ये घटना साल 1959 की है।

वाशिंगटन। अमेरिका में 9 साल की बच्ची से हुए दुष्कर्म और मर्डर के मामले को 62 साल बाद उन्नत डीएनए तकनीक से सुलझा लिया गया है। ये घटना साल 1959 की है। बताया जाता है कि नौ साल की बच्ची से 11 साल बड़े एक व्यक्ति ने बलात्कार किया और बाद में उसकी हत्या कर दी।

MURDER

एक रिपोर्ट के मुताबिक घटना वाले दिन बच्ची अपने स्पोकेन के पश्चिम मध्य पड़ोस में कैम्प फायर टकसाल बेच रही थी लेकिन शाम को वह घर वापस नहीं लौटी। इसके दो हफ्ते बाद उसका शव मिला। इस घटना के आरोपी जॉन रेघ हॉफ को कभी भी दोषी नहीं पाया गया था और साल1970 में उसकी मौत हो गयी।” स्पोकेन पुलिस ने एक बयान में बताया कि जॉन रेघ हॉफ एक अमेरिकी सैनिक थे और स्पोकेन काउंटी में फेयरचाइल्ड एयर फोर्स बेस पर तैनात थे।

यह घटना साल 1959 में हुई थी। इसके बाद 1961 में जब वह 20 वर्ष के थे तब एक महिला को बंधी हुई और गला घोंटकर पाई जाने के बाद, उन्हें “लूटने के इरादे से दूसरी डिग्री” के लिए गिरफ्तार किया गया था। स्पोकेन पुलिस के मुताबिक उन्नत डीएनए प्रौद्योगिकी के विकास से पहले मामले को सुलझाना बेहद कठिन था कि और इसे ‘माउंट एवरेस्ट’ मामला करार दिया गया था।

इस साल के शुरूआती दिनों में ही पुलिस विभाग को पीड़ित के शरीर से एक वीर्य का नमूना टेक्सास में डीएनए लैब में लेने के लिए आमंत्रित किया गया था और हॉफ को तीन में से एक को संदिग्ध के रूप में पाया गया था। अन्य दो उसके भाई थे तब पता चला कि उसका नमूना पीड़ित के शरीर से लिए गए नमूने से मेल खाता था। रिपोर्ट के मुताबिक “विभाग इस बात की पुष्टि करने में सक्षम था कि किसी अन्य व्यक्ति की तुलना में उसके डीएनए होने की संभावना 25 क्विंटल (18 शून्य) गुना अधिक थी।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *