Rapid Rail: इस डेट को गाजियाबाद पहुंचेगी रैपिड रेल, जानें क्या है ट्रेन की खासियत और कब कर सकेंगे सफर

देश की सबसे तेज चलने वाली रैपिड रेल अब बहुत जल्द पटरियों पर दौड़ने वाली है। जल्द ही आम जनता को उस पर सफर करने का...

नई दिल्ली। देश की सबसे तेज चलने वाली रैपिड रेल अब बहुत जल्द पटरियों पर दौड़ने वाली है। जल्द ही आम जनता को उस पर सफर करने का मौका मिलेगा। बता दें कि दिल्ली से मेरठ तक चलने वाली ये रैपिड रेल केंद्र सरकार के अहम प्रोजेक्ट्स में से एक है और अब इस ड्रीम प्रोजेक्ट पर काम करने वाली एनसीआरसीटी (NCRCT) यानी नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन को इस ट्रेन के छह सेट का यानि सात मई को मिल जाएंगे। इसके बाद ये 14 मई तक गाजियाबाद पहुंच जाएगी। आइये जानते हैं इस ट्रेन की खासियत।

Rapid Rail

इस ट्रेन की खासियत यह है कि यह मात्र एक घंटे में यात्रियों को दिल्ली से गाजियाबाद होते हुए मेरठ पंहुचा देगी। इस ट्रेन का निर्माण गुजरात के सावली में स्थित बंबारडियर प्लांट में किया जा रहा है।अब तक इसके छह कोच का सेट बनकर तैयार किये जा चुके हैं।

एनसीआरसीटी के चीफ पीआरओ पुनीत वत्स ने रैपिड रेल के बारे में बताते हुए कहा कि ये रेल सात मई को गुजरात से गाजियाबाद भेज दी जाएगी। यहां मिनिस्ट्री ऑफ हाउसिंग अफेयर के सेक्रेटरी मनोज जोशी इसे सवाली के प्लांट में कार्यक्रम के दौरान हरी झंडी दिखाएंगे।

उन्होंने बताया इस ट्रेन को गाजियाबाद पहुंचने में 14 या 15 मई तक का समय लग जायेगा क्योंकि इसे सड़क मार्ग ले जाया जायेगा। इसके 6 कोच के सेट को अलग अलग बड़े ट्रेलर पर रखकर गुजरात से दुहाई तक लाया जाएगा।

बता दें कि दिल्ली से गाजियाबाद होते हुए मेरठ जाने वाली रैपिड रेल का कॉरिडोर 82 किलोमीटर लंबा है और इस पर कुल 30 ट्रेनें चलने की योजना है। इस कॉरिडोर का पूरी तरह संचालन साल 2025 में शुरू होगा। इस कॉरिडोर पर चलने वाली सभी 30 ट्रेनों के सेट को गुजरात के बंबारडियर प्लांट में ही बनाया जा रहा है।