बर्ड फ्लू : जांच रिपोर्ट में पुष्टि के बिना नहीं मारे जाएंगे कानपुर प्राणी उद्यान के दुर्लभ पक्षी

साढ़ में बर्ड फ्लू से कई पक्षियों की मौत, मौके पर पहुचे पशु चिकित्सकों व रेंजर्स टीम ने कराए नष्ट

कानपुर॥ कानपुर प्राणी उद्यान के पक्षियों में बर्ड फ्लू निकलने के बाद हाई अलर्ट जारी किया गया। जू के निदेशक ने रविवार को इसकी रोकथाम और वन्य जीव-जंतुओं की जान बचाने की कवायद तेज कर दी है। बर्ड फ्लू से दुर्लभ व विदेशी पक्षियों को सुरक्षित करने के लिए निदेशक ने पशु चिकित्सकों व वन रेंजर्स के अफसरों के साथ बैठक कर रणनीति तैयार की। उधर, साढ़ क्षेत्र में मृत पक्षियों के मिलने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। मृत पक्षियों को रेंजर्स की टीम ने नष्ट कराते हुए कार्यवाही की है।

kanpur

प्राणी उद्यान के निदेशक सुनील चौधरी की अध्यक्षता में हुई बैठक में नवाबगंज व लाख बहोसी, कन्नौज के वन क्षेत्राधिकारी व कानपुर व कन्नौज के डीएफओ तथा चीफ कंसर्वटर, कानपुर ने भाग लिया। बैठक में तय किया गया कि एक टीम आसपास की वाटर बॉडीज में प्रवासी पक्षियों पर विशेष निगाह रखते हुए पशुपालन विभाग से समन्वय स्थापित रखेगी। प्राणी उद्यान के आवासित पक्षियों व झील के पक्षियों पर दिन में तीन बार निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

बताया रविवार को जांच में किसी भी पक्षी में कोई भी बर्ड फ्लू या अन्य कोई लक्षण नहीं मिला है। फ्लू के प्रकोप को खत्म करने ले लिए प्राणी उद्यान परिसर को विरसाइड स्प्रे कर सनेटाइज किया गया है व नियमित किया जा रहा है। अधिकारियों ने कहा कि जू में सभी प्रकार के वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर सख्तत से पालन कराया जाए है। उद्यान में बिना पीपीई किट के किसी को भी प्रवेश बर्ड फ्लू का खतरा टलने तक ना दिया जाए।

पुष्टि के बिना नहीं मारे जाएंगे

वन्य पक्षी बैठक में तय किया गया कि भारत सरकार के बर्ड फ्लू एक्शन प्लान के बिंदु 6.4.2 के अनुसार जू में अत्यंत महत्वपूर्ण व रेयर प्रजाति के पक्षी होते हैं। अतः आवश्यकता पड़ने पर लक्षण प्रदर्शित कर रहे पक्षी को अलग (क्वारंटाइन) कर ट्रीटमेंट किया जाए। इसके बाद आवश्यकता पड़ने पर ही जिन पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि की रिपोर्ट आई हो उनकी नियमता कलिंग (मारा) जाए। स्वस्थ पक्षी में कलिंग की आवश्यकता नहीं है।

जू के पानी व मिट्टी की होगी जांच

निदेशक ने प्रबंधन के साथ तय किया कि एक टीम प्राणी उद्यान के विभिन्न स्थानों से पानी व मृदा के नमूने एकत्र करेगी। इन नमूनों को मध्यप्रदेश के भोपाल में स्थित एनआईएचएसएडी लैब जांच के लिए भेजा जाएगा।

साढ़ में पक्षियों की मौत से ग्रामीणों में दहशत

जनपद में प्राणी उद्यान में बर्ड फ्लू की दस्तक के बाद ग्रामीण क्षेत्र के साढ़ थाना क्षेत्र स्थित गहोलिनपुरवा रावतपुतर में आज कई पक्षियों की मौत हो गई। पक्षियों के बर्ड फ्लू से मौत की आशंका को देखते हुए ग्रामीणों में दहशत फैल गई और सूचना अधिकारियों को दी गई। जानकारी पर डा. विवेक सिंह, ओमप्रकाश वर्मा, रेंजर एम. सी. सिंह टीम के साथ पहुचे और नियमता मृत पक्षियों को नष्ट कराया। पक्षियों के मृत मिलने के बाद इलाके में सतर्कता बढ़ा दी गई है और चिकन व अंडा दुकानों की जांच शुरू कर दी गई है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *