उत्तराखंड में BJP इस बड़े मंत्री का हुआ निधन, पार्टी में दौड़ी शोक की लहर

मुख्यमंत्री और विधानसभा अध्यक्ष ने जताया शोक

देहरादून॥ उत्तराखंड सरकार में दायित्वधारी एवं भाजपा के पूर्व प्रदेश महामंत्री रहे ज्ञान सिंह नेगी (75 वर्ष ) का आज तड़के यहां निधन हो गया। वह टिहरी जिले के बेरणी के रहने वाले थे।

ज्ञान सिंह नेगी का मंगलवार तड़के जौलीग्रांट स्थित हॉस्पिटल में सांस लेने में तकलीफ के चलते निधन हो गया। बताया जा रहा है कि स्वर्गीय ज्ञान सिंह नेगी कोरोना पॉजिटिव होने के चलते काफी दिनों से होम आइसोलेसन में थे लेकिन बीते सोमवार को सांस लेने में तकलीफ के चलते उन्हें जौलीग्रांट हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था।

सिंह नेगी मृदुभाषी व मिलनसार नेताओं में शुमार थे। इमरजेंसी के दौरान ज्ञान सिंह नेगी डेढ़ साल जेल में रहे थे। वह विद्या भारती, जनसंघ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़े रहे। भाजपा में भी प्रदेश महामंत्री, अनुशासन समिति के अध्यक्ष से लेकर विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर रहे। उनका अंतिम संस्कार आज ऋषिकेश में किया जाएगा।

नेगी के निधन पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने शोक व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा उत्तराखंड के वरिष्ठ नेता एवं हमारी सरकार में दर्जाधारी राज्यमंत्री ज्ञान सिंह नेगी के निधन का समाचार सुनकर अत्यंत दुःख हुआ। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्रीचरणों में स्थान दें व शोक संतप्त परिवार जनों को धैर्य प्रदान करें।”

उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने भी भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री ज्ञान सिंह नेगी के आकस्मिक निधन पर शोक व्यक्त किया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य एवं अनुसरण परिषद उत्तराखंड के उपाध्यक्ष ज्ञान सिंह नेगी के बारे में विधानसभा अध्यक्ष ने कहा है कि उन्होंने पार्टी के सच्चे सेवक के रूप में जीवन पर्यंत मूल्यों पर आधारित राजनीति की एवं संगठन को मजबूत करने में अपना विशेष योगदान दिया। उन्होंने समाज की सेवा में अपने कर्तव्यों का हमेशा निर्वहन किया। विधानसभा अध्यक्ष ने दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करते हुए शोक संतप्त परिवारजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close