लखीमपुर हिंसा पर प्रधानमंत्री मोदी की चुप्पी पर भड़की शिवसेना, जानें पार्टी ने क्या कहा

शिवसेना ने संपादकीय में लिखा कि योगी सरकार ने लखीमपुर खीरी की सरहदों को सील कर दिया

लखीमपुर खीरी में किसानों की मृत्यु के पश्चात से विपक्षी नेताओं की निरंतर बयानबाजी जारी है। एक के बाद एक विपक्षी नेता अपने बयान से सुर्खियों में बना हुआ है। वहीं सभी मुखालिफ नेताओं को मौके पर जाने से यूपी की सरकार ने रोक दिया।

Shiv Sena - CM Uddhav Thackeray

तो वहीं मुखालिफ नेताओं को घटनास्थल पर जाने से रोकने की बात शिवसेना को पसंद नहीं आई। इसी के चलते शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में उप्र सरकार की खींचाई की है। शिवसेना के मुखपत्र सामना ने आज यानी मंगलवार को जिले की सरहदों को सील करने और विपक्षी नेताओं को लखीमपुर खीरी जाने से रोकने के लिए योगी सरकार की आलोचना की है।

दरअसल शिवसेना ने संपादकीय में लिखा कि योगी सरकार ने लखीमपुर खीरी की सरहदों को सील कर दिया। घटना स्थल के रास्ते में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को अरेस्ट कर लिया। सांसद हुड्डा के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया था। सपा चीफ को भी नजरबंद रखा गया था।

तो वहीं आगे लिखा गया है कि यदि लद्दाख में भारत-चीन सीमा को उसी प्रकार बंद कर दिया जाता है जिस प्रकार से लखीमपुर खीरी की सरहद को सील कर दिया गया है, तो चीनी सैनिकों की घुसपैठ नहीं होती। इसी के साथ शिवसेना ने अपने संपादकीय में लखीमपुर खीरी की घटना पर पीएम मोदी की चुप्पी पर प्रश्न उठाया है।

शिवसेना ने कहा कि हमारे प्यारे पीएम मोदी एक बहुत ही संवेदनशील और भावुक शख्स हैं। कई मर्तबा पीएम गरीबों के मुद्दों पर भावुक होते दिखाई देते हैं। ये चौंकाने वाला है कि प्रधानमंत्री ने इस घटना में मारे गए किसानों के प्रति शोक व्यक्त किया है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *