Shiv Sena का BJP पर तीखा वार, कहा – पतितों को पालकी में बैठाकर नाच रहे हैं …

सामना की संपादकीय में लिखा है कि कभी बीजेपी विचारवान व निष्ठावान और जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं की पार्टी थी। इस पार्टी में बाहरी व पतित लोगों के लिए जगह नहीं थी, लेकिन अब मूल विचारों वाले लोग कबाड़ व पतित लोगों को पालकी में बैठाकर नाच रहे हैं। इसीलिए इस पार्टी का अंतकाल करीब आ गया है।

डेस्क। शिवसेना (Shiv Sena) और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। शिवसेना ने बीजेपी पर तीखा वार किया है। सोमवार को शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में लिखा है कि बीजेपी में अब मूल विचारों वाले लोग कबाड़ व पतित लोगों को पालकी में बैठाकर नाच रहे हैं। इसलिए महाराष्ट्र में बीजेपी का अंतकाल करीब आ गया है। बताते चलें की गत दिनों बीजेपी नेता प्रसाद लाड ने शिवसेना भवन को लेकर निशाना साधा था, सामना में प्रकाशित लेख उसी का जवाब माना जा रहा है।

Shiv Sena - CM Uddhav Thackeray

शिवसेना (Shiv Sena) के मुखपत्र सामना की संपादकीय में लिखा है कि कभी बीजेपी विचारवान व निष्ठावान और जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं की पार्टी थी। इस पार्टी में बाहरी व पतित लोगों के लिए जगह नहीं थी, लेकिन अब मूल विचारों वाले लोग कबाड़ व पतित लोगों को पालकी में बैठाकर नाच रहे हैं। इसीलिए इस पार्टी का अंतकाल करीब आ गया है।

सामना की संपादकीय में आगे लिखा है कि शिवसेना (Shiv Sena) भवन में बालासाहेब ठाकरे के साथ छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा है। उनका भगवा झंडा भवन में फहराया जाता है। यह कुछ लोगों को परेशान करता है। बताते चलें कि शिवसेना अपनी बातों को अपने मुखपत्र सामना की संपादकीय व उसमे प्रकाशित लेखों के माध्यम से कहती है।

शिवसेना (Shiv Sena) सुप्रीमों व महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने बी जेपी पर तंज कसते हुए कहा है कि हम अब आलोचना सुनने के आदी हो गए हैं। हम अब आलोचना से नहीं डरते। हमने उन आलोचनाओं का अच्छी और दृढ़ता से जवाब देना शुरू कर दिया है। हमने पलटवार करना शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में सरकार के गठन के बाद से ही बीजेपी उसपर लगातार हमले कर रही है। दोनों दलों के बीच आरोपों-प्रत्यारोपों का दौर जारी है।

Digital Payment: आज लांच होगा e-RUPI-रूपी, जानें कहां और कैसे इस्तेमाल किया जा सकेगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *