तो बिहार में बनेगी इस पार्टी की सरकार

कुछ लोग सिर्फ अपने कुनबे के लिए करते हैं। ये लोग आपका दर्द नहीं समझ सकते लेकिन बिहार के लोगों ने उन्हें पहचान लिया है। जंगलराज और डबल युवराजों को सिरे से नकार दिया है। पहले चरण के मतदान के बाद एक बात साफ है कि बिहार की जनता ने डंके की चोट पर संदेश दे दिया है, बिहार में फिर एक बार एनडीए की सरकार बनने जा रही है।

अररिया/पटना। बिहार में मंगलवार को दूसरे चरण के लिए मतदान जारी है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज अररिया के फारबिसगंज में एनडीए के पक्ष में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, बिहार अब उन लोगों को पहचान चुका है जिनका एकमात्र सपना है कि किसी तरह लोगों को डराकर, अफवाह फैलाकर, लोगों को बांटकर किसी भी तरह से सत्ता हथिया लेना है। कुछ लोग सिर्फ गरीब-गरीब नाम की माला जपते हैं और अपना महल बनाते हैं।

Bihar Assembly Elections

बिहार में फिर बनने जा रही एनडीए की सरकार-मोदी

कुछ लोग सिर्फ अपने कुनबे के लिए करते हैं। ये लोग आपका दर्द नहीं समझ सकते लेकिन बिहार के लोगों ने उन्हें पहचान लिया है। जंगलराज और डबल युवराजों को सिरे से नकार दिया है। पहले चरण के मतदान के बाद एक बात साफ है कि बिहार की जनता ने डंके की चोट पर संदेश दे दिया है, बिहार में फिर एक बार एनडीए की सरकार बनने जा रही है।

उन्होंने कहा कि बिहार में आज दूसरे चरण का मतदान चल रहा है। इस बार बंपर वोटिंग हो रही है। आज बिहार के लोगों ने देश ही नहीं पूरे विश्व को संदेश दिया है। कोरोना के संकटकाल में बिहार के लोग अपने घरों से निकलकर इतनी बड़ी संख्या में मतदान कर रहे हैं। लोकतंत्र की इतनी बड़ी ताकत, लोकतंत्र के प्रति हर बिहारी का इतना बड़ा समर्पण ये पूरे विश्व के लिए एक भरोसा जगाने वाली घटना है। बिहार की पवित्र भूमि ने ठान लिया है कि इस नए दशक में बिहार को नई ऊंचाई पर पहुंचाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि आज एनडीए के विरोध में जो खड़े हैं वो इतना कुछ खाने के बाद फिर बिहार को लालच की नजरों से देख रहे हैं। लेकिन बिहार के लोगों को पता है कि कौन राज्य का विकास करेगा और कौन परिवार का विकास करेगा। गरीब के हक की लूट होती थी। उन्होंने कहा कि जो लोग समाज को बांटकर सत्ता हथियाना चाहते हैं, उनसे सावधान रहने की जरूरत है। कुछ लोगों को परेशानी है कि मोदी चुनाव क्यों जीतता है। आज बिहार की महिलाएं कह रही हैं कि घर वाले जो चाहे कहें, लेकिन मैं तो मोदी के साथ चलूंगी। बिहार की हर मां, बिहार की हर बेटी आज हम सबको आशीर्वाद दे रही है। मोदी माताओं-बहनों की सेवा कर रहा है, इसलिए उसे स्नेह मिलता है, यही तो लोकतंत्र की ताकत है। अगर बिहार में पहले जैसे ही हालात होते, तो सच मानिए, गरीब मां का ये बेटा कभी प्रधानमंत्री नहीं बन पाता, आपका प्रधान सेवक नहीं बन पाता। बिहार में आज बिना किसी भेदभाव के लोगों को विकास का लाभ मिल रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, सरकार ने गैस सिलेंडर, शौचालय, आयुष्मान भारत जैसी मदद गरीबों को दी है। सरकार आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीबों के लिए हर साल 5-5 लाख रुपये तक का खर्चा खुद उठा रही है। बिहार को जब फिर इस बार डबल इंजन की ताकत मिलेगी, तो यहां का विकास पहले से भी तेज गति से होगा। पिछले एक दशक में नीतीश कुमार की अगुवाई में बिहार विकास की ओर आगे बढ़ा है, आने वाला दशक बिहार की आकांक्षाओं को पूरा करने का वक्त है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, एक समय था जब बिहार की पहचान बहुत सी नकारात्मक बातों से होने लगी थी। इस पहचान के जिम्मेदार कौन थे, मुझसे ज्यादा पहले के हालातों को बिहार से लोग जानते हैं। बिहार का बच्चा-बच्चा दुनिया में कहीं पर भी हो, इन बातों को भलीभांति जानता है। आज बिहार की पहचान बदल रही है। कुछ दिनों पहले ही बिहार के हर गांव को ब्रॉडबैंड इंटरनेट से जोड़ने के अभियान की शुरुआत हुई है। इससे बिहार के युवा घर बैठे ही देश और दुनिया में अच्छी पढ़ाई और बिजनेस के अवसरों से जुड़ पाएंगे।

तब मतदान नहीं होता थामत छीन लिया जाता था:

मोदी ने कहा, आज बिहार में अहंकार हार रहा है, परिश्रम फिर जीत रहा है। आज बिहार में घोटाला हार रहा है, लोगों का हक़ फिर जीत रहा है। आज बिहार में गुंडागर्दी हार रही है, कानून का राज वापस लाने वाले फिर जीत रहे हैं। घोटाला हार रहा है, लोगों का हक़ फिर जीत रहा है। बिहार वो दिन भूल नहीं सकता, जब चुनाव को इन लोगों ने मजाक बनाकर रख दिया था। इनके लिए चुनाव का मतलब था- चारों तरफ हिंसा, हत्याएं, बूथ कैप्चरिंग। बिहार के गरीबों से इन लोगों ने वोट देने तक का अधिकार छीन रखा था। तब मतदान नहीं होता था, मत छीन लिया जाता था, वोट की लूट होती थी, गरीब के हक की लूट होती थी। बिहार में गरीब को सही मायनों में मतदान का अधिकार एनडीए ने दिया है।

कांग्रेस को झूठे वादों की जनता ने दी सजाआज 100 सांसद भी नहीं:

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस ने झूठ बोलकर देश को सपना दिखाया था, कांग्रेस वाले पहले बोलते थे कि गरीबी हटाएंगे, किसानों का कर्ज माफ करेंगे। कांग्रेस ने बातें बहुत की लेकिन एक भी काम नहीं किया। आज कांग्रेस की हालत ऐसी है कि लोकसभा और राज्यसभा दोनों को मिला दें तो कांग्रेस के पास 100 सांसद भी नहीं हैं। कई राज्यों में तो कांग्रेस का खाता भी नहीं खुला है। यूपी-बिहार में कांग्रेस चौथे-पांचवें नंबर पर है और किसी का कुर्ता पकड़कर बचने की कोशिश में है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *