इस वजह से प्रदेश भाजपा में हो गई तकरार, दिल्ली में लगी नेताओं की क्लास

कोलकाता, 03 सितंबर । पश्चिम बंगाल में  2021 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा प्रदेश  इकाई में  आपसी कलह सतह पर आ गई है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष और पार्टी के युवा मोर्चा के अध्यक्ष सौमित्र खान के बीच टकराव इतना  बढ़ चुका है कि अब इसे संभालने के लिए दिल्ली में भाजपा नेताओं की क्लास लगी है।

bjp

पार्टी की युवा शाखा की राज्य समिति और जिला अध्यक्षों के चयन को लेकर बंगाल भाजपा की अंदरूनी कलह सामने आया  था। बंगाल भाजपा के सूत्रों ने कहा कि युवा इकाई  की प्रदेश  समिति के गठन को लेकर खान और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के बीच की खींचतान से राष्ट्रीय नेतृत्व खुश नहीं है।

इससे पहले, खान ने युवा विंग के जिला अध्यक्षों के नामों की घोषणा की थी लेकिन दिलीप घोष ने उन्हें अस्वीकार कर दिया था। खान को दो दिन पहले दिल्ली में कैलाश विजयवर्गीय और शिवप्रकाश से मिलने के लिए कहा गया था, जब उन्होंने युवा मोर्चा के राज्य समिति के सदस्यों के नाम जारी किए थे।

इसके बाद सौमित्र खान ने दिल्ली में शिव प्रकाश और विजवर्गीय से मुलाकात की है जहां सांगठनिक मामलों को लेकर  चर्चा हुई है।  बांकुड़ा के बिष्णुपुर से सांसद खान ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस से नाता तोड़ लिया था। उन्होंने भाजयुमो  अध्यक्ष का पद संभाला और तब से वे और घोष युवा विंग के नए राज्य पैनल का गठन करने के लिए चेष्टा कर रहे हैं।

आपको बता दें कि दोनों अपनी पसंद के पार्टी कार्यकर्ताओं को आगे कर रहे हैं। खान द्वारा युवा विंग के जिला अध्यक्षों के नाम प्रकाशित किए जाने के बाद और घोष ने इसे अस्वीकार कर दिया था। पार्टी के प्रदेश  अध्यक्ष ने खुले तौर पर कहा था कि समिति के गठन में उनका विशेषाधिकार है

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *