वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ के बाद उठाए गए ऐसे सख्त कदम, तीर्थयात्रियों ने बताई ये बातें

अधिकारी पिछले दो दिनों से सख्त हैं और उन्होंने भक्तों से कतार में रहने और मंदिर में जाने के लिए अपनी बारी का इंतजार करने का आग्रह किया

जम्मू-कश्मीर के कटरा में माता वैष्णो देवी मंदिर में शनिवार को मची भगदड़ में 12 लोगों की मौत के एक दिन बाद, तीर्थयात्री अधिकारियों के ‘सख्त’ दिशानिर्देशों का पालन करते हुए मंदिर में दर्शन के लिए उमड़ पड़े।

शनिवार तड़के हुए इस दर्दनाक हादसे पर चिंता व्यक्त की गई। मीडिया से बात करते हुए, नई दिल्ली के एक तीर्थयात्री गौरव आहूजा ने कहा कि अधिकारी पिछले दो दिनों से सख्त हैं और उन्होंने भक्तों से कतार में रहने और मंदिर में जाने के लिए अपनी बारी का इंतजार करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा, “वे पिछले दो दिनों से काफी सख्त हैं। पहले वे उतने सख्त नहीं थे। जनता अब काफी बेहतर महसूस कर रही है।”

वहीँ एक तीर्थयात्री ने कहा कि “मैं अपने परिवार के साथ दर्शन के लिए आया हूं। हमें आने से ठीक एक दिन पहले पता चला कि भगदड़ हुई थी। इसलिए मैं भक्तों से दूसरों को धक्का दिए बिना कतार में रहने का आग्रह करूंगा ताकि ऐसी स्थिति फिर से उत्पन्न न हो।” नई दिल्ली के एक अन्य तीर्थयात्री गिरीश ने भी कहा कि व्यवस्था अच्छी है और श्रद्धालुओं से मंदिर के सुचारू संचालन के लिए सरकार द्वारा निर्धारित नियमों और विनियमों का पालन करने की अपील की।

एक दूसरे तीर्थयात्री ने कहा कि “व्यवस्था पहले की तरह काफी अच्छी है। सुनने में आ रहा है कि इस दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना के कारण लोगों के बीच कुछ बहस हुई थी। इसलिए मैं भक्तों से इस तरह की गतिविधियों में शामिल न होने और आराम से माता के दर्शन करने की अपील करता हूं। लोगों को अधिकारियों द्वारा निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करना चाहिए। यदि लोग दिशानिर्देशों का पालन करते हैं, तो तीर्थयात्रियों की सुरक्षा हमेशा बनी रहती है।”

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close