मूर्तियां चुराते ही चोर का हुआ ऐसा हाल कि डर के मारे कर दी वापस, चिट्ठी में लिखी ये बात

उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आ रहा है। बताया आज रहा है कि यहां तरौंहा स्थित प्राचीन...

चित्रकूट। उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आ रहा है। बताया आज रहा है कि यहां तरौंहा स्थित प्राचीन बालाजी मंदिर से बीते नौ मई को चोरी हो गई थी लेकिन अब चोरों ने अष्ट धातु की 14 मूर्तियों को वापस कर दिया है। बताया जा रहा है कि चोर सभी 14 मूर्तियों को रविवार को एक चिट्ठी के साथ महंत के आवास के बाहर छोड़कर चले गए।

thief

मामले की जानकरी देते हुए एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि चोरों ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि ‘हमें रात में डरावने सपने आते हैं, इसलिए हम मूर्तियां महंत के आ‍वास के बाहर रखकर जा रहे हैं।’ वहीं सदर कोतवाली कर्वी के प्रभारी निरीक्षक (एसएचओ) राजीव कुमार सिंह ने बताया कि बीते नौ मई की रात को चोरों ने तरौंहा स्थित प्राचीन बालाजी मंदिर से अष्ट धातु की 16 मूर्तियां चुरा ली थी। इन मूर्तियों की कीमत करोड़ों रुपये में आंकी गई थी।

इस घटना को लेकर मंदिर के महंत रामबालक ने थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया था। सिंह ने बताया कि चोरी की गई कुल 16 में से 14 मूर्तियां रविवार को रहस्यमय तरीके से महंत रामबालक के आवास के बाहर एक बोरे से बरामद हुईं। उन्होंने बताया कि मूर्तियों के साथ एक चिट्ठी भी मिली है जिसे चोरों महंत के नाम लिखा है।

इस चिट्ठी में लिखा गया है, “हमें रात में डरावने सपने आते हैं। हम डर की वजह से मूर्तियां वापस कर रहे हैं।” सिंह ने बताया कि फिलहाल सभी 14 मूर्तियां कोतवाली में जमा करवा ली गई हैं और मामले की जांच की जा रही है।