नोएडा में कैसे तोड़ीं जाएगी 40 मंज़िला दो इमारतें! 3 दिन बाद आ जाएगी CBRI की रिपोर्ट

इस रिपोर्ट में सीबीआरआई बताएगी कि दूसरे टावर्स को नुकसान पहुंचाए बिना कैसे एमरॉल्ड सोसाइटी के दो अवैध टावर्स (Illegal twins tower) को तोड़ा जा सकता है.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के आदेश के मुताबिक दो बड़ी बिल्डिंग को तोडा जायेगा। आपको बता दें कि नोएडा अथॉरिटी इसकी तैयारियों में लगी हुई है. अथॉरिटी सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (CBRI), रुड़की की मदद ले रही है. ऐसी चर्चा है कि तीन दिन बाद सीबीआरआई अथॉरिटी को अपनी रिपोर्ट सौंप देगी. इस रिपोर्ट में सीबीआरआई बताएगी कि दूसरे टावर्स को नुकसान पहुंचाए बिना कैसे एमरॉल्ड सोसाइटी के दो अवैध टावर्स (Illegal twins tower) को तोड़ा जा सकता है.

वहीँ सूत्रों की मानें तो नोएडा अथॉरिटी टावर्स को तोड़ने के लिए किसी विदेशी कंपनी की मदद ले सकती है. चार से पांच कंपनी अथॉरिटी के संपर्क में हैं. गौरतलब रहे कि सितम्बर में सीबीआरआई की टीम ने एमरॉल्ड सोसाइटी में बने दोनों अवैध टावर्स अपैक्स और सियान का निरीक्षण किया था. टीम ने टावर्स से जुड़ा फाउंडेशन स्ट्रक्चर प्लान भी मांगा था. टीम की सलाह पर ही टावर्स का ड्रोन से सर्वे कराया गया था.

आपको बता दें कि सुपरटेक बिल्डर पर आरोप है कि उसने ग्रीन बेल्ट और ओपन एरिया में अवैध तरीके से दो अपैक्स और सियान टावर खड़े कर दिए हैं. हर एक टावर 40-40 मंजिल का है. इसकी शिकायत खुद एमरॉल्ड सोसाइटी में रहने वालों ने की थी. इसके बाद यह केस सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया. जहां हाल ही मैं सुप्रीम कोर्ट ने अपना फैसला देते हुए नोएडा अथॉरिटी को आदेश दिया था कि वह 30 नवंबर तक सुपरटेक के दोनों अपैक्स और सियान टावर को तोड़े.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *