Swapna Shastra: अगर चोंच मारते हुए दिखे ये पक्षी तो समझिए पितृगण हैं नाराज, करें ये उपाय

सोते समय सपने तो हर कोई देखता है। इन पर किसी का कोई नियंत्रण नहीं हो पाता। कई बार कुछ सपने अच्छे आते हैं तो कई बार ऐसे सपने आते हैं जिन्हें देखते...

सोते समय सपने तो हर कोई देखता है। इन पर किसी का कोई नियंत्रण नहीं हो पाता। कई बार कुछ सपने अच्छे आते हैं तो कई बार ऐसे सपने आते हैं जिन्हें देखते ही डर के मारे आंख खुल जाती है। वहीं कई सपने बीएड अजीब होते हैं। अन्य शास्त्रों ही तरह स्वप्न शास्त्र भी है। इस शास्त्र में सपनों के अलग-अलग महत्व के बारे में बताया गया है।

Swapna Shastra

स्वप्न शास्त्र की माने तो सपने हमें भविष्य में होने वाली घटनाओं के बारे में बड़े संकेत देते हैं। लेकिन जरूरी नहीं कि जो सपना आपको सोते समय सुख महसूस कराए वह वास्तव में भी शुभ फल देने वाला हो। स्वप्न शास्त्र के मुताबिक अगर सपने में पितृ के दर्शन हो जाये तो इसका अर्थ शुभ नहीं होता है। इस तरह के सपने का अर्थ यह भी हो सकता है कि वे आपसे नाराज हैं। आइये जानते हैं सपने में पितृ दर्शन की वजह और उससे मुक्ति के उपाय

अगर आपके सपने में बार-बार आपके पितृ आ रहे हैं तो समझ लीजिए यह एक अशुभ संकेत है। दरअसल आपके पितृ आपसे कुछ कहना चाह रहे होते हैं। ऐसे में पितृ पक्ष में पिंडदान करना चाहिए। साथ ही तर्पण भी करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से उनकी आत्मा को शांति मिलेगी और वह आपको आशीर्वाद देंगे।

पितृ दिखें किसी मुसीबत में

स्वप्न शास्त्र में बताया गया है कि अगर आपको सपने में पितृ किसी कष्ट में दिखें तो ये भी शुभ स्वप्न नहीं माना जाता। इसका अर्थ होता है कि वे आपसे नाराज हैं। ऐसे में उनकी नाराजगी दूर करने और उनकी आत्मा की शांति के लिए घर में गीता का पाठ कराना चाहिए।

पितृ रोते हुए दिखें

अगर सपने में पितृ रोते दिखाई दें तो ये भी शुभ संकेत नहीं है। इस प्रकार के स्वप्न का मतलब है कि उसकी जो इच्छाएं पूरी नहीं हुईं थी और उन्हें अभी मोक्ष की प्राप्ति नहीं हुई है। ऐसे में उन्हें मुक्ति दिलाने के लिए उनके नाम से दान और ब्राह्राण भोज कराना चाहिए।

कौए का चोंच मारना

गरुड़ पुराण में बताया गया है कि कौए का संबंध मृत्यु के देवता यमराज से है। वपन शास्त्र के अनुसार सपने में अगर कौआ चोंच मारता हुआ दिखाई दे तो जरूर कुछ अनहोनी हो सकती है। इसका मतलब है कि पितर आपसे बेहद नाराज हैं और उनको आपकी किसी बात से कष्ट पहुंच रहा है।इसलिए पितृपक्ष पर तर्पण भी कर सकते हैं ताकि उनकी आत्मा को शांति मिले।

क्रोधित पितृ दिखें तो

यदि अपने में पितर गुस्सा करते हुए दिखें तो इसका मतलब है कि आप पितृदोष से पीड़ित हैं और आपकी कुंडली में पितृ दोष है। ऐसे में किसे पंडित से सलाह कर इसका उपाय कर लेना चाहिए।