देश के सबसे महंगे वकील ने सुप्रीम कोर्ट में कहा, माय लॉर्ड मेरा क्लाइंट गरीब है फिर जज ने…

भारत की सबसे बड़ी अदालत में उस वक़्त रोचक  क्षण आया जब देश के सबसे महंगे वालों में शुमार मुकुल रोहतगी ने कहा कि माय लॉर्ड मेरा मुवक्किल गरीब है तब जज मुस्कुराने लगे। इस पर मुकुल रोहतगी ने कहा माय लॉर्ड अब मैं गरीबों का केस देखने लगा हूं।दरअसल जमीन अधिग्रहण मामले की सुनवाई चल रही थी।

बता दें कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जस्टिस अरुण मिश्रा की अगुआई वाली बेंच मामले की सुनवाई कर रही थी। इस दौरान जज मास्क लगाए हुए थे और हाथों में दस्ताने भी पहने हुए थे। वहीं  पक्षकार की ओर से पेश सीनियर ऐडवोकेट और पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी पेश हो रहे थे।

इसके बाद मुकुल रोहतगी ने सुनवाई के दौरान कहा कि माय लॉर्ड आप सभी सुरक्षा उपाय किए हुए हैं और सुनवाई कर रहे हैं इसको लेकर उन्हें खुशी है। तब जस्टिस अरुण मिश्रा ने कहा कि आपको देखकर भी खुशी हुई कि आप अपने चैंबर से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े हैं। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में कोरोना के कारण चैंबर बंद कर दिए गए थे जो शुक्रवार को खोले गए जिसके बाद वकील अपने चैंबर से ही वीडियो कॉन्फेंसिंग के जरिए पेश हो रहे हैं।

सुनवाई जब आगे बढी तो मुकुल रोहतगी ने अपने क्लाइंट की ओर से केस की पैरवी करते हुए कहा कि उनका मुवक्किल गरीब है और उन्हें राहत दी जाए। इस पर जस्टिस अरुण मिश्रा मुस्कुराने लगे। इस पर मुकुल रोहतगी ने मौके की नजाकत को समझा और फिर कहा कि माय लॉर्ड अब मैं गरीबों की वकालत करने लगा हूं। अब लीगल फ्रेटरनिटी बदल गई है। हम गरीबों का केस लड़ते हैं। दरअसल मुकुल रोहतगी देश के सबसे महंगे वकीलों में से एक हैं और उन्होंने जब दलील में कहा कि उनका मुवक्किल गरीब है तो ऐसी परिस्थिति बन गई कि जज मुस्कुराने लगे।

UP- सीएम योगी को मिली बम से उड़ाने की धमकी, इस नंबर से दी गई थी धमकी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *